मनोरंजन: मौका पाने के लिए विजय देवरकोंडा को कई सालों तक ऑडिशन देना पड़ा

वह साझा करतें है, मैं सभी फाइनलिस्ट की भावनाओं को समझ सकता हूं क्योंकि मैंने भी बहुत सारे सपनों के साथ आडिशन दिया था। मुझे भी, आडिशन देने में, सफलता पाने की कोशिश करने और मौका पाने में कई साल लग गए। तो हां, इसलिए मैं सभी को परफॉर्म करते देखकर भावुक हो गया हूं। मुझे पता है कि उनमें से हर एक के बड़े सपने हैं और अब जब शो खत्म हो रहा है, तो केवल एक ही ट्रॉफी घर ले जाएगा।

मौका पाने के लिए विजय देवरकोंडा को कई सालों तक ऑडिशन देना पड़ा
India
मुंबई, 25 अगस्त (आईएएनएस)। लाइगर स्टार विजय देवरकोंडा का कहना है कि वह इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के प्रतियोगियों की भावनाओं को समझ सकते हैं, क्योंकि उन्होंने खुद अपने अभिनय करियर में काफी उम्मीदों के साथ कई बार आडिशन दिए हैं।

वह साझा करतें है, मैं सभी फाइनलिस्ट की भावनाओं को समझ सकता हूं क्योंकि मैंने भी बहुत सारे सपनों के साथ आडिशन दिया था। मुझे भी, आडिशन देने में, सफलता पाने की कोशिश करने और मौका पाने में कई साल लग गए। तो हां, इसलिए मैं सभी को परफॉर्म करते देखकर भावुक हो गया हूं। मुझे पता है कि उनमें से हर एक के बड़े सपने हैं और अब जब शो खत्म हो रहा है, तो केवल एक ही ट्रॉफी घर ले जाएगा।

दिल्ली के रजत सूद, उज्जैन के हिमांशु बावंदर, नितेश शेट्टी, विघ्नेश पांडे और मुंबई के जयविजय सचान सहित शीर्ष 5 फाइनलिस्ट का जिक्र करते हुए, उन्होंने उल्लेख किया कि वह कई ऐसे शो का हिस्सा रहे हैं, जहां जो लोग विजेता नहीं बन पाए लेकिन बाद में सफल हो गए।

अनन्या पांडे के साथ विजय इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के फिनाले एपिसोड के लिए आ रहे हैं। यह सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर प्रसारित होता है।

--आईएएनएस

पीजेएस/आरआर

Must Read: सिया के निर्देशक ने फिल्म को बताया लचीलेपन और धैर्य की कहानी

पढें मनोरंजन खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :