एमबीयू में फर्जी डिग्री का खेल: मानव भारती विश्वविद्यालय से फर्जी डिग्री लेकर सरकारी नौकरी पाने वालों की होगी छुट्टी, मानव भारती के संचालक ने सिरोही में खोल रखी थी माधव यूनिवर्सिटी

हिमाचल के सोलन की मानव भारती विश्वविद्यालय से फर्जी डिग्री लेकर हिमाचल प्रदेश में सरकारी नौकरियां हथियाने वालों की छुट्टी होने वाली है।

मानव भारती विश्वविद्यालय से फर्जी डिग्री लेकर सरकारी नौकरी पाने वालों की होगी छुट्टी, मानव भारती के संचालक ने सिरोही में खोल रखी थी माधव यूनिवर्सिटी

नई दिल्ली। 
हिमाचल के सोलन की मानव भारती विश्वविद्यालय (Manav Bharti University) से फर्जी डिग्री (Fake degree case) लेकर हिमाचल प्रदेश में सरकारी नौकरियां हथियाने वालों की छुट्टी होने वाली है। राज्य निजी शिक्षण संस्थान विनियामक आयोग ने मुख्य सचिव अनिल खाची को पत्र लिखकर फर्जी डिग्रियों की जांच करने की मंजूरी मांगी है। सरकार अगर आयोग को जांच की मंजूरी देती है तो एमबीयू से डिग्री लेने वालों का आंकड़ा जुटाकर विभिन्न विभागों से इस बाबत जानकारी ली जाएगी।
जानकारी के मुताबिक विनियामक आयोग के अध्यक्ष मेजर जनरल सेवानिवृत्त अतुल कौशिक ने बताया कि सरकार के विभिन्न विभागों में एमबीयू से शिक्षा प्राप्त कई लोग नौकरियां कर रहे हैं। सरकार से मंजूरी मिलते ही जांच कमेटियों का गठन किया जाएगा। इस जांच से फर्जी और सही डिग्री प्राप्त करने वालों में अंतर हो जाएगा। एमबीयू की अभी तक करीब 35 हजार डिग्रियां फर्जी मिली हैं। इस मामले में एमबीयू के मालिक समेत आठ लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। इनमें दो एजेंट शामिल हैं, जो फर्जी डिग्रियां बाहरी राज्यों में बेचते थे। विवि के मालिक की पत्नी और बच्चों को आस्ट्रेलिया से भारत लाने के लिए सीआईडी प्रयासरत है।

हिमाचल पुलिस ने किया था फर्जी डिग्री घोटाले का खुलासा
हिमाचल प्रदेश के सोलन में मानव भारती विश्वविद्यालय में हिमाचल पुलिस ने इस साल जनवरी माह में बड़े घोटाले का पर्दाफाश किया था। हिमाचल के फर्जी डिग्री घोटाले से 17 राज्यों में हडकंप मच गया था। फर्जी डिग्रियों का ये घोटाला 194 करोड़ 17 लाख का बताया जा रहा है, इस मामले में एसआईटी की टीम ने 75 जगहों पर छापेमारी की और 275 लोगों से पूछताछ की थी।