एसीबी के डीआईजी की फेक आईडी: उदयपुर एसीबी के डीआईजी की सोशल मीडिया पर बनाई फर्जी आईडी, उदयपुर में मुकदमा दर्ज

साइबर क्राइम लगातार दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। आम जनता के साथ—साथ अपरा​धी अब पुलिस के अधिकारियों को भी अपने निशाने पर ले रहे है। ऐसा ही एक मामला प्रदेश के उदयपुर जिले से आया है।

उदयपुर एसीबी के डीआईजी की सोशल मीडिया पर बनाई फर्जी आईडी, उदयपुर में मुकदमा दर्ज

जयपुर।   
प्रदेश में साइबर क्राइम लगातार दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। आम जनता के साथ—साथ अपरा​धी अब पुलिस के अधिकारियों को भी अपने निशाने पर ले रहे है। ऐसा ही एक मामला प्रदेश के उदयपुर जिले से आया है। जहां बदमाशों ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के डीआईजी की सोशल मीडिया पर फर्जी आईडी बना ली। इतना ही नहीं, बदमाशों ने डीआईजी के परिचितों से चेट भी करना शुरू कर दिया। इसके बाद मामले का खुलासा हुआ तो डीआईजी साहब ने उदयपुर एसपी को शिकायत दी।
जानकारी के मुताबिक साइबर ठगों की ओर से राजस्थान पुलिस के DIG कैलाश चंद्र बिश्नोई की फर्जी आईडी बनाकर लोगों से चैटिंग की जा रही थी। गुरुवार को जब DIG विश्नोई को इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी मिली तो उन्होंने अपनी फेक आईडी के खिलाफ उदयपुर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शिकायत दर्ज करवाई है। राजस्थान पुलिस में DIG कैलाश चंद्र बिश्नोई ने बताया कि सोशल मीडिया पर उनके नाम से फेक अकाउंट बनाया गया था। जिसके माध्यम से हैकर उनके परिचित व्यक्तियों से सोशल मीडिया के माध्यम से बातचीत कर रहा था। इस दौरान हैकर द्वारा कुछ लोगों से अनर्गल बातचीत भी की गई। इसके बाद उनके परिचितों को शक हुआ और उन्होंने बिश्नोई को फोन कर इस बारे में जानकारी दी। तब जाकर फेक आईडी का खुलासा हुआ। बता दें कि कैलाश चंद्र बिश्नोई राजस्थान पुलिस के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में उदयपुर में DIG के पद पर कार्यरत हैं। इससे पहले बिश्नोई कई जिलों में पुलिस अधीक्षक भी रह चुके हैं।