तालाब की पाल पर चरा रहा था बकरियां: पैर फिसलने से मासूम तालाब में गिरा, पुलिस के आने से पहले घरवालों ने कर दिया अंतिम संस्कार

पैर फिसलने से मासूम तालाब में गिरा, पुलिस के आने से पहले घरवालों ने कर दिया अंतिम संस्कार

नागौर। जिले के पीलवा थाना अंतर्गत कुंडरी पंचायत के गौड़जी का पूरा गांव में एक 13 साल के मासूम बच्चे की तालाब में डूबने से मौत हो गई। घटना के बाद से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। मासूम अपनी दादी के साथ घर से बकरियां चराने निकला था। तालाब की पाल पर पैर फिसलने से हादसा हुआ। दादी की सूचना पर परिजन व ग्रामीण मौके पर पहुंचे और तालाब में से मासूम के शव को निकाला।

कुंडरी पंचायत के गौड़जी का पूरा गांव निवासी किशनाराम गैना का मासूम बेटा राजू (13) रविवार सुबह अपनी दादी के साथ में बकरियां चराने के लिए घर से निकला था। दादी-पोता बकरियां चराते-चराते तालाब के किनारे पहुंच गए। यहां तालाब की पाल के किनारे मासूम का पैर फिसलने से तालाब में गिर गया और डूबने से मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

घबराई दादी ने दी परिजनों व ग्रामीणों को सूचना, मच गई चीख-पुकार
मासूम के तालाब में गिरतने का पता चलते ही दादी के होश उड़ गए और उन्होंने गांव की तरफ दौड़ लगा दी और परिजनों व ग्रामीणों को हादसे की जानकारी दी। प्रत्यक्षदर्शी ग्रामीणों के अनुसार दादी ने शोर मचाना शुरू किया तो परिजन सहित गांव के अन्य तमाम लोग इकट्ठा हो गए। तालाब से मासूम का शव निकाला गया तो परिवार पर मानो पहाड़ टूट पड़ा। पीलवा थानाधिकारी रिछपाल सिंह ने बताया कि पुलिस मौके पर पहुंचती इससे पहले ही परिजनों ने मासूम का अंतिम संस्कार कर दिया।

परिवार में अब एक ही चिराग
कुंडरी सरपंच लक्ष्मण डूडी ने बताया कि किशनाराम गैना के दो बेटे हैं। इनमें से छोटे बेटे राजू की डूबने से मौत हो गई। अब किशनाराम गैना के परिवार में एक ही बेटा बचा है जिसकी उम्र 16 साल है।

Must Read: देश में फिर डराने लगा कोरोना, 24 घंटे में 17 हजार पार नए मामले, एक्टिव केस 95 हजार के करीब

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :