जालौर विधायक गर्ग को बनाया सचेतक: जालौर से विधायक जोगेश्वर गर्ग को राजस्थान विधानसभा में भाजपा विधायक दल का बनाया सचेतक

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया की चिट्ठी पहुंचने के बाद विधानसभा सचिवालय ने गर्ग को भाजपा विधायक दल का सचेतक बनाने संबंधी समाचार जारी कर दिया।

जालौर से विधायक जोगेश्वर गर्ग को राजस्थान विधानसभा में भाजपा विधायक दल का बनाया सचेतक

जयपुर। 
जालौर से विधायक और पूर्व मंत्री जोगेश्वर गर्ग को भाजपा विधायक दल का सचेतक बनाया गया है। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया की चिट्ठी पहुंचने के बाद विधानसभा सचिवालय ने गर्ग को भाजपा विधायक दल का सचेतक बनाने संबंधी समाचार जारी कर दिया। जोगेश्वर गर्ग चार बार के विधायक हैं और शुरू से ही आरएसएस से जुड़े रहे हैं। जोगेश्वर गर्ग 1990 में पहली बार विधायक बने थे। भैरोसिंह शेखावत सरकार में उस वक्त उन्हें आयुर्वेद राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार बनाया गया था। गर्ग 1990 से 1992, 1993 से 1998, 2003 से 2008 और अब 2018 से विधायक हैं। 

सोशल मीडिया पर जताया आभार


गर्ग ने सचेतक बनाए जाने के बाद सोशल मीडिया पर लिखा है कि एक अकिंचन कार्यकर्ता को जिसके पास न जनबल है, न धनबल है और न ही बाहुबल है। बिना मांगे बहुत कुछ देने के लिए भाजपा राजस्थान और समस्त भाजपा परिवार का हार्दिक आभार। नेतृत्व, विधायक दल व समस्त कार्यकर्ताओं की उम्मीद पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा।

लाल चौक में तिरंगा फहराने के आंदोलन में थे शामिल 
जोगेश्वर गर्ग के बारे में बताया जाता है कि वे शुरू से ही आरएसएस और हिंदूवादी संगठनों के साथ सक्रिय रहे हैं। जोगेश्वर गर्ग भेरोसिंह शेखावत सरकार में मंत्री थे, उस समय  श्रीनगर के लालचौक में तिरंगा फहराने के आंदोलन में शामिल होने के लिए जनवरी 1992 में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। गर्ग मंत्री पद से इस्तीफा देकर श्रीनगर के लालचौक में तिरंगा फहराने के लिए गए थे। आंदोलन को मुरलीमनोहर जोशी नेतृत्व कर रहे थे और नरेंद्र मोदी उस अभियान का जिम्मा संभाल रहे थे। गर्ग भी मुरली मनोहर जोशी, नरेंद्र मोदी के साथ जाने वाले प्रमुख नेताओं में थे।