गुजरात: शंकरसिंह वाघेला ने बनाई अपनी पार्टी, लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

वाघेला ने अपने फेसबुक पेज पर राज्य के लोगों से पहले ही कई वादे किए हैं जैसे - 12 लाख रुपये सालाना कमाने वाले परिवार के लिए 12 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा, ऐसे परिवार के बच्चों को बारहवीं कक्षा तक मुफ्त शिक्षा, युवाओं को रोजगार मिलने तक बेरोजगारी भत्ता, जल कर से छूट, 100 यूनिट तक मुफ्त बिजली.

शंकरसिंह वाघेला ने बनाई अपनी पार्टी, लड़ेंगे विधानसभा चुनाव
गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला

गांधीनगर | दिग्गज राजनेता और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला (Gujarat Ex Chief Minister Shankar Singh Vaghela) ने रविवार को एक नई पार्टी प्रजा शक्ति डेमोक्रेटिक पार्टी (Prajashakti Democratic Party) का गठन किया है। उनकी पार्टी गुजरात में आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी।

चुनावी राजनीति में अपने फिर से प्रवेश के बारे में अपने इरादे की घोषणा करते हुए, वाघेला ने गांधीनगर में स्थानीय मीडिया से कहा, लोग भाजपा के विकल्प की तलाश कर रहे हैं। मेरे लिए भाजपा, कांग्रेस और आप के दरवाजे बंद हैं, इसलिए मैंने प्रजा शक्ति डेमोक्रेटिक पार्टी शुरू करने का फैसला किया, पार्टी डेढ़ साल पहले पंजीकृत हुई थी। अब हमारे पास एक पार्टी है।

वाघेला ने अपने फेसबुक पेज पर राज्य के लोगों से पहले ही कई वादे किए हैं जैसे - 12 लाख रुपये सालाना कमाने वाले परिवार के लिए 12 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा, ऐसे परिवार के बच्चों को बारहवीं कक्षा तक मुफ्त शिक्षा, युवाओं को रोजगार मिलने तक बेरोजगारी भत्ता, जल कर से छूट, 100 यूनिट तक मुफ्त बिजली, किसानों को ऋण में छूट, बिजली बिलों में राहत, नई वैज्ञानिक शराब नीति आदि शामिल हैं।

ये भी पढ़ें:- Asia Cup 2022: 28 अगस्त को भारत के साथ मुकाबले से पहले पाक टीम को बड़ा झटका, तेज गेंदबाज शाहीन अफरीदी बाहर

वाघेला ने शनिवार को दिल्ली में भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी और राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल से मुलाकात की थी। उन्होंने उनसे समर्थन देने का अनुरोध किया है, अगर उन्हें लगता है कि वाघेला एक क्षेत्रीय पार्टी शुरू करके सही काम कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें:- सोनम कपूर के घर आया नन्हा सा बाल गोपाल, अनिल कपूर बने नाना

2017 में भी, वाघेला ने क्षेत्रीय पार्टी जन विकल्प लॉन्च किया था और चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें 1 प्रतिशत वोट भी नहीं मिला और न ही राज्य में एक भी सीट जीत सके। उन्होंने खुद चुनाव नहीं लड़ा।

Must Read: राजस्थान के उपचुनावों से पहले किसान नेता टिकैत की महापंचायत, कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग, खराब मौसम ने डाली खलल

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :