New York @ पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को पहुंचे न्यूयॉर्क, संयुक्त राष्ट्र महासभा के अधिवेशन में होंगे शामिल

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को न्यूयॉर्क पहुंच गए। न्यूयॉर्क में मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें अधिवेशन को संबोधित करेंगे। इससे पहले शुक्रवार रात को होटल के बाहर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय और अमेरिकी नागरिकों से मुलाकात की। इस दौरान वंदे मातरम, भारत माता की जय के नारे लगाए गए।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को पहुंचे न्यूयॉर्क, संयुक्त राष्ट्र महासभा के अधिवेशन में होंगे शामिल

नई दिल्ली, एजेंसी। 
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को न्यूयॉर्क पहुंच गए। न्यूयॉर्क में मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें अधिवेशन को संबोधित करेंगे। इससे पहले शुक्रवार रात को होटल के बाहर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय और अमेरिकी नागरिकों से मुलाकात की। इस दौरान वंदे मातरम, भारत माता की जय के नारे लगाए गए। इस का वीडियो तक शेयर किए जा रहे है।

अमेरिका में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने मीडिया को बताया कि भारत जनरल असेंबली की मीटिंग में आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन, इंडो—पैसिफिक और संयुक्त राष्ट्र में सुधार जैसे वैश्विक मुद्दों पर आवाज उठा सकता है। भारत के एजेंडे में वैक्सीन के लिए सस्ती और न्याय संगत पहुंच का मुद्दा भी शामिल किया गया है। महासभा के अधिवेशन में हर नेता को 15 मिनट का समय दिया गया है। सभी देशों के प्रतिनिध को समय सीमा का ध्यान रखना होगा। वहीं शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात की। इस साल जवनरी में शपथ लेने के बाद यह पहला मौका है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति और भारत के प्रधानमंत्री आमने सामने मुलाकात कर रहे हैं।


क्वाड में अफगानिस्तान का उठा मामला
अमेरिका में क्वाड देशों की मीटिंग में भारत, जापान, अमेरिका और आस्ट्रेलिया के राष्ट्राध्यक्ष व्हाइट हाउस में एक साथ हुए। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने बाइडेन को क्वाड देशों की बैठक बुलाने के लिए शुक्रिया किया। इस दौरान भारत ने क्वाड की बैठक में पाकिस्तान की अफगानिस्तान में भूमिका और आतंकवाद में शामिल होने का मुद्दा उठाया। इस दौरान मोदी ने कहा कि मुझे विश्वास है कि क्वाड हमारा सहयोग हिंद—प्रशांत के साथ—साथ दुनिया में शांति बनाए रखने में करेगा। क्वाड वैक्सीन पहल से इंडो पैसिफिक देशों को मदद मिलेगी। क्वाड आपूर्ति श्रृंखला, वैश्विक सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन और कोरोना महामारी जैसे कई मुद्दों पर पर मिलकर काम कर रहा है।

Must Read: तेल और गैस की खोज को मंजूरी के लिए ऑस्ट्रेलियाई सरकार की आलोचना

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :