मां के हत्यारे को कोर्ट से फांसी की सजा: महाराष्ट्र में मां की निर्ममता से हत्या करने के आरोपी बेटे को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा, हत्या के बाद अंगों को काटकर नमक—मिर्च लगाकर खा गया था हत्यारा बेटा

महाराष्ट्र के कोल्हापुर में 2017 में अपनी मां की निर्ममता से हत्या करने और इसके बाद शव से अंगों को निकालकर खाने के मामले में आज कोर्ट ने अहम फैसला सुनाया। जिला कोर्ट ने हत्यारे बेटे को फांसी की सजा सुनाई है। वहीं कोर्ट ने अपनी मां की हत्या करने और अंगों पर नमक—मिर्च लगाकर खाने की वारदात को जघन्य बताते हुए यह फैसला सुन

महाराष्ट्र में मां की निर्ममता से हत्या करने के आरोपी बेटे को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा, हत्या के बाद अंगों को काटकर नमक—मिर्च लगाकर खा गया था हत्यारा बेटा

नई दिल्ली। 
महाराष्ट्र के कोल्हापुर (Kolhapur) में 2017 में अपनी मां की निर्ममता से हत्या करने और इसके बाद शव से अंगों को निकालकर खाने के मामले में आज कोर्ट ने अहम फैसला सुनाया। जिला कोर्ट ने हत्यारे बेटे को फांसी की सजा सुनाई है। वहीं कोर्ट ने अपनी मां की हत्या करने और अंगों पर नमक—मिर्च लगाकर खाने की वारदात को जघन्य बताते हुए यह फैसला सुनाया है।
जानकारी के मुताबिक गुरुवार को आरोपी को सजा सुनाते हुए जिला अदालत के जज महेश जाधव ने कहा कि ऐसा जघन्य मामला आज तक नहीं देखने को मिला है। इसलिए आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। 35 साल का सुनील कुचिकोरवी ( Sunil Kuchikorvi) वारदात के बाद से ही जेल में बंद था। 
28 अगस्त 2017 का है मामला
जानकारी के मुताबिक कोल्हापुर(Kolhapur) के मक्कडवाला (makkadwala) इलाके में यह वारदात 28 अगस्त, 2017 को हुई थी। पुलिस की चार्ज शीट के मुताबिक, सुनील ने अपनी 62 साल की मां की चाकू गोदकर हत्या की थी। बुजुर्ग महिला का शव अलग-अलग हिस्सों में कटा हुआ मिला था। हर हिस्से पर नमक-मिर्च लगी थी। Police ने सुनील को जब पकड़ा तो उसके मुंह पर खून लगा था। बाद में उसने मां के अंग को खाने की बात कबूल भी की थी। पड़ोसियों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को एक बड़े चाकू के साथ गिरफ्तार किया था। घटना का कोई चश्मदीद गवाह नहीं था, लेकिन अदालत ने परिस्थितिजन्य साक्ष्य और उसके कबूलनामे के आधार पर फांसी की सजा सुनाई है।
शराब के रुपए नहीं दिए तो कर दी थी हत्या
पुलिस के मुताबिक जांच में सामने आया कि सुनील शराब का आदी था और वारदात वाले दिन वह अपनी मां से शराब खरीदने के लिए पैसे मांगने गया था। मां ने मना किया तो गुस्से में उनका कत्ल कर दिया। इसके बाद आरोपी ने उसके शरीर के दाहिने हिस्से को चीर दिया और दिल, गुर्दे, आंत (heart, kidney, intestine) और अन्य अंगों को निकालकर रसोई के पास रख दिया और खाने लगा। इस मामले में 12 लोगों की गवाही हुई, जिसमें आरोपी के रिश्तेदार और पड़ोसी शामिल हैं। सभी ने बताया कि शराब पीने के बाद आरोपी आउट ऑफ कंट्रोल हो जाता था।

Must Read: गांधी जी से जुड़ी चीजों की नीलामी की तैयारी, चश्मे के बाद  अब नीलाम होगी ये ऐतिहासिक चीजें

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :