Corona अमेरिका & यूरोप में हाल बेहाल: विश्वभर में लगातार बढ़ रही हैं कोरोना संक्रमितों की संख्या, कोरोना के नए वैरिएंट डेल्ट्राक्रॉन के मरीज आए सामने

डेल्ट्राक्रॉन को लेकर ​वैज्ञानिकों ने कहा कि 'यह ओमिक्रॉन और डेल्टा का को-इन्फेक्शन है। इसमें जो स्ट्रेन पाया है उसमें इन दोनों का कॉम्बिनेशन है। डेल्टा जीनोम के अंदर ओमिक्रॉन जैसे जेनेटिक लक्षण मिले हैं।

विश्वभर में लगातार बढ़ रही हैं कोरोना संक्रमितों की संख्या, कोरोना के नए वैरिएंट डेल्ट्राक्रॉन के मरीज आए सामने

नई दिल्ली, एजेंसी। 
विश्व में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। दुनियाभर में अब तक 31 करोड़ से अधिक लोग कोरोना की चपेट में आ गए। 
हालांकि इसमें से 26 करोड़ से अधिक लोग स्वस्थ हो गए। वहीं करीबन 55 लाख से अधिक लोग कोरोना की चपेट में आने से जान गंवाई है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक एक दिन में अब ​दुनियाभर में 27 लाख 72 हजार नए संक्रमित आ रहे है। वहीं 9 लाख 55 हजार लोग रिकवर हो गए। 
पिछले 24 घंटों में करीबन 7847 लोगों की मौत हुई। इसमें सर्वाधिक अमेरिका में 6 लाख 72 हजार केस सामने आए है। 
अमेरिका के अलावा फ्रांस भी 3 लाख 68 हजार संक्रमित एक दिन में सामने आए है।
अमेरिका, फ्रांस के अलावा इटली में भी 2 लाख से अधिक कोरोना संक्रमित केस सामने आ रहे है। विश्व में मंगलवार को जहां 22 लाख नए संक्रमित आए थे, वहीं एक ही दिन में 5 लाख 62 हजार केस की बढ़ोतरी हुई। 
इसके अलावा एक्टिव केस के मामले में भी अमेरिका टॉप पर है। अमेरिका में 1.98 करोड़ एक्टिव केस है, जबकि दुनियाभर में 4.67 करोड़ एक्टिव केस हैं। 
विश्व में करीब 31.39 करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमित है, इनमें सें 26.16 करोड़ ठीक हुए और 55.20 लाख ने जान गंवाई है।

WHO ने फिर दे ओमिक्रॉन को लेकर चेतावनी
वहीं दूसरी ओर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने ओमिक्रॉन संक्रमण को लेकर​ फिर से चेतावनी जारी की है। 
डब्ल्यूएचओ के मुताबिक आने वाले दो माह में आधे से अधिक यूरोप ओमिक्रॉन की चपेट में आ सकते हैं। इसका असर पश्चिमी देशों से पूर्वी देशों की ओर रहेगा।
डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कोरोना के केस में वैक्सीन काफी असरदार साबित हो रही है। इसकी वजह से महामारी जानलेवा नहीं हो रहीं, नहीं तो हालात बेकाबू हो जाते। 
डेल्टाक्रॉन अब ज्यादा खतरनाक
वहीं दूसरी ओर दुनिया में कोरोना के वैरिएंट ओमिक्रॉन की वजह अब एक ओर वैरिएंट सामने आ सकता है। 
चिकित्सकों के मुताबिक नए कोरोना स्ट्रेन ने दस्तक दे दी है। 
विदेशों में डेल्टा और ओमिक्रॉन वैरिएंट्स से मिलकर नया स्ट्रेन बन गया। रिसर्च में दावा किया जा रहा है कि डेल्टा और ओमिक्रॉन दोनों वैरिएंट के लक्षण से 'डेल्टाक्रॉन' नाम दिया है। 
डेल्ट्राक्रॉन को लेकर ​वैज्ञानिकों ने कहा कि 'यह ओमिक्रॉन और डेल्टा का को-इन्फेक्शन है। इसमें जो स्ट्रेन पाया है उसमें इन दोनों का कॉम्बिनेशन है। डेल्टा जीनोम के अंदर ओमिक्रॉन जैसे जेनेटिक लक्षण मिले हैं।