Corona में कारगर साबित हुई ये दवा: Corona से कोमा में गई महिला, 28 दिन से कोमा में रहने के बाद कामुकता की दवा से आया होश, चिकित्सकों ने दवा का शुरू किया रिसर्च

करीबन 28 दिन कोमा में रहने के बाद कामुकता बढ़ाने वाली दवा उसके लिए कारगर साबित हो गई। चिकित्सकों ने एक नर्स की सलाह पर वियाग्रा का हाई डोज दिया और महिला वापस होश में आ गई। इसके बाद चिकित्सकों की टीम वियाग्रा के इस्तेमाल को लेकर रिसर्च कर रहे है

Corona से कोमा में गई महिला, 28 दिन से कोमा में रहने के बाद कामुकता की दवा से आया होश, चिकित्सकों ने दवा का शुरू किया रिसर्च

नई दिल्ली, एजेंसी। 
विदेश में एक महिला कोरोना के चलते कोमा में चली गई। शरीर में आक्सीजन लेवल कम होने के चलते महिला के हालात बिगड़ते गए और वह कोमा में चली गई। 
करीबन 28 दिन कोमा में रहने के बाद कामुकता बढ़ाने वाली दवा उसके लिए कारगर साबित हो गई। चिकित्सकों ने एक नर्स की सलाह पर वियाग्रा का हाई डोज दिया और महिला वापस होश में आ गई। 
इसके बाद चिकित्सकों की टीम वियाग्रा के इस्तेमाल को लेकर रिसर्च कर रहे है। जानकारी के मुताबिक इंग्लैंड में कोरोना के चलते एक महिला नर्स की जान वियाग्रा से बचाई गई। 
चिकित्सकों के मुताबिक 37 साल की मोनिका अल्मेडा को अक्टूबर को कोरोना हो गया था। गेन्सबरो लिंकनशायर की रहने वाली मोनिका स्वयं एक नर्स हैं।


अक्टूबर में कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के बाद उनकी तबीयत लगातार खराब होती गई। एक समय बाद उन्हें खून की उल्टियां होने लगी। इस पर मोनिका को अस्पताल में भर्ती कराया गया। 
यहां से कुछ समय बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। लेकिन घर जाने के बाद वापस मोनिका की स्वास्थ्य खराब हो गया। मोनिका को सांस लेने में परेशानी होने लगी। 
लिंकन के काउंटी अस्पताल में उनका इलाज शुरू किया गया। इनके शरीर में आक्सीजन लेवर लगातार कम होता गया। इस दौरान उन्हें आईसीयू में शिफ्ट किया गया। 
यहां 16 नवंबर को मोनिका कोमा में चली गई। चिकित्सकों की टीम ने मोनिका को होश में लाने के लिए कई ट्रीटमेंट किए, लेकिन कोई खास फायदा नहीं हुआ। 
चिकित्सकों की टीम ने वेंटिलेटर से हटाने के बारे में सोच ही रही थी कि मोनिका को वियाग्रा देने के बारे में विचार किया गया। मोनिका को वियाग्रा का हैवी डोज दिया गया, इसके बाद वह होश में आ गई।
इसको लेकर चिकित्सकों की टीम ने अब वियाग्रा को लेकर रिसर्च शुरू किया कि नाइट्रिक आक्साइड की तरह किया जा सकता है। इससे ब्लड में आक्सीजन लेवल को बढ़ाया जा सकता है या नहीं। 
होश में आने के बाद मोनिका ने कहा कि आखिरकार वियाग्रा ने मुझे नया जीवन दान दे दिया। इससे मेरे एयर वेव्स को खोला गया, मेरे लंग्स ने काम करना शुरू किया। 
अस्थमा और कोरोना के चलते शरीर में आक्सीजन लेवल कम होता गया और कोमा में चली गई थी। अब एक दम ठीक हूं।

Must Read: पर्यटन के क्षेत्र में राजस्थान को मिले 2 पुरस्कार, गरडिया महादेव बेस्ट आइकॉनिक लैंडस्केप डेस्टिनेशन और डेजर्ट फेस्टिवल बना बेस्ट फेस्टिवल डेस्टिनेशन

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :