आत्म रक्षा का प्रशिक्षण: शिक्षिकाओं को दक्ष प्रशिक्षक  बनाने का दिया प्रशिक्षण, अन्य शिक्षिकाओं को देगी प्रशिक्षण

अब आत्म रक्षा का परीक्षण लेने के बाद ये शिक्षिकाएं विभिन्न स्कूलों में लगी अन्य शिक्षिकाओं को आत्म रक्षा का प्रशिक्षण देकर आत्म रक्षा के गुर सिखाएगी। उनके द्वारा प्रशिक्षित शिक्षिकाएं स्कूली छात्राओं को आत्म रक्षा का प्रशिक्षण देगी ताकि बालिकाएं भी आत्म रक्षा के गुर सिख कर कठिन समय मे अपनी रक्षा खुद कर सके।

शिक्षिकाओं को दक्ष प्रशिक्षक  बनाने का  दिया प्रशिक्षण,  अन्य शिक्षिकाओं को देगी प्रशिक्षण

जालोर। जालोर जिले की शिक्षिकाओं को दक्ष प्रशिक्षक बनाने का  रानी लक्ष्मीबाई आत्म रक्षा प्रशिक्षण 6 दिनों तक  उम्मेदाबाद में दिया गया। अब ये दक्ष प्रशिक्षक शिक्षिकाएं अन्य स्कूलों में लगी शिक्षिकाओं को  आत्म रक्षा का प्रशिक्षण देगी।

जालोर जिले के आठों ब्लॉक के दो प्रारंभिक शिक्षा के वह दो माध्यमिक शिक्षा के शारीरिक शिक्षिका ने केआरपी के रूप में प्रशिक्षण प्राप्त किया है। यह अब अपने ब्लॉक में जाकर विभिन्न विद्यालयों के शारीरिक शिक्षिका या शिक्षिकाओं को प्रशिक्षित करेंगे जो विद्यालय में जाकर बालिकाओं को प्रशिक्षित करेंगे इस संबंध में छह दिवसीय आत्मरक्षा रानी लक्ष्मीबाई प्रशिक्षण शिविर का आयोजन कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय उम्मेदाबाद( सायला) में किया गया।

इस प्रशिक्षण शिविर का मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी टीआर मीणा व अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक चंद्रकांत रामावत के द्वारा निरीक्षण किया गया। इस प्रशिक्षण शिविर का आयोजन 6 दिसंबर से प्रारंभ होकर 11 दिसंबर तक किया गया जिसमें सभी ब्लॉक के लिए केआरपी प्रशिक्षित किए गए हैं  के आरपीओ को राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद जयपुर के निर्देशानुसार संपूर्ण पाठ्यक्रम व शारीरिक दमखम का पूर्ण रूप से प्रशिक्षण दिया गया।

अब आत्म रक्षा का परीक्षण लेने के बाद ये शिक्षिकाएं विभिन्न स्कूलों में लगी अन्य   शिक्षिकाओं  को आत्म रक्षा का प्रशिक्षण देकर आत्म रक्षा के गुर सिखाएगी। उनके द्वारा प्रशिक्षित शिक्षिकाएं स्कूली छात्राओं को आत्म रक्षा का प्रशिक्षण देगी ताकि बालिकाएं भी आत्म रक्षा के गुर सिख कर कठिन समय मे अपनी रक्षा खुद कर सके। दक्ष प्रशिक्षक रानी सैन व रेखा सैनी  ने 6 दिनों तक नियमित के आरपी बनाने के लिए शिक्षिकाओं को पंच ,ब्लॉक ,कैट स्टांस,बैक स्टांस,हैंड मूवमेंट ,लेफ्टऔर राइट फॉरवर्ड ,किक और थ्रो  आदि के बारे में बारीकी से जानकारी ली।

अंगूरी धांधल ने बताया कि हमने ने मन लगा कर नियमित 6 दिनों तक केआरपी बनने का प्रशिक्षण लिया जिससे वे अपने ब्लॉक की अन्य  शारीरिक शिक्षिका व शिक्षिकाओ को  आत्म रक्षा का प्रशिक्षण दे सकेगी। इस अवसर पर समग्र शिक्षा के चन्द्र भान, आवासीय विद्यालय की प्रधानाध्यापिका खुसबू गहलोत, अंगूरी धांधल, सुनीता बुरड़क, चन्द्रेश धनकड़, रितूराज, विनोद, डिम्पल, हेमलता, शबाना, पुष्पा, रेखा, बसन्त, नीलम, अजरा साइन बागवान, कल्पना, अन्जूबाला, वीणा आदि मौजूद थे।

Must Read: क्या सिरोही पुलिस आनंदपाल और आईपीएस हिम्मत अभिलाष टांक की मिलीभगत के राज खोल पाएगी?

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :