हाइवे पर वसूली का खुला खेल: मंडार RTO चेकपोस्ट पर अवैध वसूली का खुला खेल, एंट्री के नाम प्रति ट्रक 300 रुपये किए जा रहे वसूल

प्रत्येक ट्रक से एंट्री के नाम पर 300 रुपये की अवैध वसूली की जा रही हैं। पहले यहां सिर्फ गुजरात से राजस्थान आने वाले ट्रकों से ही ये वसूली होती थी, पर अब राजस्थान से गुजरात जाने वाले ट्रकों से भी ये अवैध वसूली शुरू कर दी गई हैं।

मंडार RTO चेकपोस्ट पर अवैध वसूली का खुला खेल, एंट्री के नाम प्रति ट्रक 300 रुपये किए जा रहे वसूल
सिरोही। राजस्थान गुजरात की सीमा पर सिरोही जिले के मंडार कस्बे के पास लगी RTO चेकपोस्ट पर ट्रक चालकों से अवैध वसूली का खुला खेल चल रहा हैं। यहां से गुजरने वाले प्रत्येक ट्रक से एंट्री के नाम पर 300 रुपये की अवैध वसूली की जा रही हैं। पहले यहां सिर्फ गुजरात से राजस्थान आने वाले ट्रकों से ही ये वसूली होती थी, पर अब राजस्थान से गुजरात जाने वाले ट्रकों से भी ये अवैध वसूली शुरू कर दी गई हैं। मंडार RTO चेकपोस्ट लर सामने से गुजरने वाले मेगा हाईवे पर खाकी वर्दी में गार्ड तैनात रहते हैं, जो इस रूट से गुजरने वाले ट्रकों को रुकवाकर ट्रक ड्राइवर को अपने ट्रक के दस्तावेज लेकर चेकपोस्ट में बने केश काउंटर पर भेजा जाता हैं। इस दौरान ट्रक ड्राइवर का मोबाइल बाहर ही रखवा दिया जाता हैं ताकि खिड़की पर की जाने वाली अवैध वसूली का कोई वीडियो नही बना सके। ट्रक ड्राइवर जब अपने दस्तावेज लेकर खिड़की पर पहुंचता हैं वहां पर उसके दस्तावेज लेकर एंट्री के नाम पर 300 रुपये की मांग की जाती हैं। ट्रक ड्राइवर 300 रुपये देकर अपने दस्तावेज वापस प्राप्त करके बाहर आता हैं और गार्ड के पास जमा अपना मोबाइल लेकर ट्रक में बैठकर आगे अपने गंतव्य के लिए निकल जाता हैं। एंट्री के नाम पर वसूल किए गए इन 300 रुपयों की ना तो कोई रसीद उस ट्रक ड्राइवर को दी जाती हैं और न ही वो 300 रुपये सरकारी खजाने में जमा होते हैं। ये अवैध वसूली चेकपोस्ट पर तैनात स्टाफ और उनके उच्चाधिकारियों में बंदरबाट करके अपनी तिजोरियां भरने में लगे हुए हैं।

रोजाना गुजरते हैं हज़ारो ट्रक
गुजरात राजस्थान सीमा पर बनी मंडार चेकपोस्ट से हर रोज करीब 3000 से ज्यादा ट्रकों की आवाजाही होती हैं। वहीं यहां से गुजरने वाले प्रत्येक ट्रक से 300 रुपये की अवैध वसूली की जा रही हैं। ऐसे में सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता हैं कि इस मंडार RTO चेकपोस्ट पर प्रतिदिन करीबन 9 से 10 लाख रुपये की अवैध वसूली की जा रही हैं। इस हिसाब से देखा जाए तो महीने करीबन 3 करोड़ और एक साल के करीबन 35 से 36 करोड़ रुपयों की अवैध वसूली करके ये अधिकारी कर्मचारी अपनी तिजोरियां भरने में लगे हुए हैं पर इस अवैध वसूली पर नकेल कसने वाले सभी जिम्मेदार मूकदर्शक बने बैठे हैं।

ट्रक ड्राइवरों का कहना

मैं गुजरात के कांडला पोर्ट से जयपुर के कोटपूतली जा रहा हूँ। राजस्थान गुजरात की सीमा पर मंडार RTO चेकपोस्ट पर पहुंचने पर मेरी गाड़ी रुकवाई गई। मुझसे ट्रक के कागजात मांगे गए। मैंने कागजात दिखाए तो गार्ड ने मुझे अंदर खिड़की पर जाकर कागजात दिखाने की बात कही। मेरा मोबाइल गार्ड ने ले लिया। जब मैं खिड़की पर पहुंचा तो मुझे राजस्थान में एंट्री के 300 रुपये मांगे गए। मैंने खिड़की पर बैठे कर्मचारी को 300 रुपये दिए। तो उसने मेरे कागजात वापस लौटाए, मैंने एंट्री रसीद मांगी तो बोले एंट्री फीस की रसीद नही दी जाती। तो मैं चुपचाप बाहर आ गया। गार्ड से मोबाइल लिया और रवाना हो गया।
भैरूलाल गुर्जर, ट्रक ड्राइवर निवासी भीलवाड़ा

मेरी ट्रक प्रतिदिन जामनगर से नागौर चलती हैं। पहले यहां पर सड़क पर ही ट्रक रुकवाकर 300 रुपये एंट्री फीस ली जाती थी, पर अब इन्होंने थोड़ा चेंज कर दिया हैं, अब ट्रक रुकवाकर मोबाइल बाहर ही रखवाकर अंदर भेजा जाता हैं। अब चेकपोस्ट के अंदर बनी खिड़की पर एंट्री के नाम पर 300 रुपये लेते हैं। आज भी मैंने 300 रुपये एंट्री दी हैं तब मुझे आगे जाने दिया गया। ये एंट्री यहां से गुजरने वाले सभी ट्रकों से ली जाती हैं।
राजेंद्र, ट्रक ड्राइवर, निवासी नागौर