India @ एअर इंडिया की घर वापसी: टाटा ग्रुप ने 18 हजार करोड़ रुपए में खरीद एअर इंडिया, रतन टाटा घर वापस लिख कर किया ​ट्वीट

आखिरकार एअर इंडिया कंपनी की घर वापसी हो गई। 68 साल के सफर तय करने वाली सरकारी एअर सर्विस एअर इंडिया अब टाटा ग्रुप के पास आ गई। टाटा ग्रुप ने एअर इंडिया को 18,000 करोड़ रुपए में खरीद लिया।

टाटा ग्रुप ने 18 हजार करोड़ रुपए में खरीद एअर इंडिया, रतन टाटा घर वापस लिख कर किया ​ट्वीट

नई दिल्ली, एजेंसी।
आखिरकार एअर इंडिया (Air India) की घर वापसी हो गई।  68 साल के सफर तय करने वाली सरकारी एअर सर्विस एअर इंडिया अब टाटा ग्रुप(Tata Group) के पास आ गई। टाटा ग्रुप ने एअर इंडिया को 18,000 करोड़ रुपए में खरीद लिया। इस बाद इसकी जानकारी फाइनेंस मिनिस्ट्री(Finance Ministry) के डिपार्टमेंट ऑफ इनवेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट (दीपम)(Department of Investment and Public Asset Management) ने किया है। इसी के साथ टाटा ग्रुप में एअर इंडिया और एअर इंडिया एक्सप्रेस दोनों की कमान आ गई।

दीपम के सेक्रेटरी तुहीन कांत पांडे (Tuhin Kant Pandey)ने कहा है कि जब एअर इंडिया विनिंग बिडर के पास चली जाएगी तक उसकी बैलेंसशीट पर मौजूद 46 हजार 262 करोड़ रुपए का कर्ज सरकारी कंपनी AIAHL के पास जाएगा। पांडे ने कहा कि सरकार को इस डील में 2,700 करोड़ रुपए का कैश मिलेगा। एअर इंडिया(Air India) की डील में जमीन और इसके भवन सहित किसी भी नॉन एसेट को नहीं बेचा जाएगा। कुल कीमत 14,718 करोड़ रुपए के ये एसेट सरकारी कंपनी AIAHL के हवाले कर दिए जाएंगे। वहीं कार्गो और ग्राउंड हैंडलिंग भी कंपनी AISATS की आधी हिस्सेदारी मिलेगी। उन्होंने बताया कि स्पाइसजेट(SpiceJet) के चेयरमैन अजय सिंह के कंसॉर्टियम ने इस के 15,000 करोड़ रुपए की बोली लगाई थी। अब ऐसी संभावना बताई जा रही है कि दिसंबर तक डील क्लोज कर ली जाएगी।


5 बिडर्स के टेंडर हुए खारिज, अब मिली टाटा को
एअर इंडिया को खरीदने के लिए पांच बिडर्स के टेंडर खारिज किए गए है। बताया जा रहा है ​कि वे पांचों सरकार की तमाम शर्तों पर खरे नहीं उतर पाए थे। इस डील के तहत नए बिडर को एक साल तक के लिए एअर इंडिया के मौजूदा कर्मचारियों को रखना होगा। उसके बाद बिडर अगर चाहे तो अगली साल कर्मचारियों को VRS दे सकता है। सरकार की ओर से अगले चार माह में टाटा ग्रुप को एअर इंडिया की जिम्मेदारी सौंप देंगी। एअर इंडिया का रिजर्व प्राइस 12,906 करोड़ रुपए रखा गया था। कंपनी की वैल्यूएशन के आधार पर इसका प्राइस तय किया गया था। एअर इंडिया फिलहाल शेयर बाजार में लिस्ट नहीं है, इसलिए उसकी इक्विटी की कोई वैल्यूएशन नहीं की गई।

अब टाटा ग्रुप (Tata Group) इस आगे चलकर शेयर बाजार में लिस्ट करा सकते हैंं। टाटा की 28 कंपनियां लिस्टेड हैं। एअर इंडिया को लेकर पिछले दिनों भी खबरें प्रसारित की गई कि टाटा संस ने एअर इंडिया को खरीद लिया। हालांकि बोली मंजूर होने की खबर को बाद में खारिज कर दिया गया था। ऐसा बताया जा रहा है कि सरकार एअर इंडिया को कई साल से बेचने की योजना बना रही है। इस की 2018 में 76 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के लिए बोली मंगाई थी। इसके बाद मैनेजमेंट कंट्रोल अपने पास रखने की बात सामने आई तो किसी ने भी दिलचस्पी नहीं दिखाई। 

Must Read: तंगहाली की आग में झुलसा श्रीलंका! उग्र भीड़ ने पीएम आवास को किया आग के हवाले

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :