हत्या या आत्महत्या ?: साधु-संतों को लेकर भरतपुर फिर चर्चा में! अब पेड़ से झुलता मिला महंत का शव, ग्रामीणों में आक्रोश

भरतपुर जिला साधु-संतों को लेकर इस बार ज्यादा ही चर्चा में आ रहा है। पहले महंत के आत्मदाह उसके बाद संत से मारपीट और अब महंत की हत्या की आशंका के बाद ग्रामीणों में आक्रोश देखा जा रहा है।

साधु-संतों को लेकर भरतपुर फिर चर्चा में! अब पेड़ से झुलता मिला महंत का शव, ग्रामीणों में आक्रोश

भरतपुर | राजस्थान का भरतपुर जिला साधु-संतों को लेकर इस बार ज्यादा ही चर्चा में आ रहा है। पहले महंत के आत्मदाह उसके बाद संत से मारपीट और अब महंत की हत्या की आशंका के बाद ग्रामीणों में आक्रोश देखा जा रहा है। जानकारी के अनुसार, जिले के महतौली गांव में एक मंदिर के नेत्रहीन महंत का शव पेड़ से लटका मिला है। जिसे लेकर आशंका जताई जा रही है कि, महंत की हत्या की गई है।

ग्रामीणों का आरोप आत्महत्या नहीं हत्या
मृतक महंत की पहचान बुद्धि दास के रूप में हुई है। जिनकी उम्र 75 से 80 साल के बीच बताई जा रही है। नेत्रहीन महंत के पेड़ से लटके मिलने के बाद से ग्रामीणों में जमकर आक्रोश देखा जा रहा है। ग्रामीणों का आरोप है कि, महंत की किसी ने हत्या की है। जिस पर ग्रामीण पुलिस में मुकदमा दर्ज कराने की मांग पर अड़े हैं। ग्रामीणों का कहना है कि महंत नेत्रहीन है और देख नहीं सकते है तो वह पेड़ पर चढ़कर आत्महत्या कैसे कर सकते हैं। 

ये भी पढ़ें:- राजस्थान: प्रेमिका से मिलने भाई के नाते ससुराल आता प्रेमी और फिर... दुल्हन हम ले जाएंगे

पोस्टमार्टम करा शव ग्रामीणों को सौंप
महंत के पेड़ से लटके मिलने की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा कर ग्रामीणों को सौंप दिया है। अब महंत की मौत के कारणों का पता लगाया जा रहा है। ग्रामीणों के अनुसार नेत्रहीन बुजुर्ग महंत मंदिर में रहकर अपना जीवन व्यतीत कर रहे थे। 

ये भी पढ़ें:- मानसिक विमंदित बालिका पुनर्वास गृह: संचालिका समेत 2 गिरफ्तार, पुलिस ने पीड़िता के कोर्ट में दर्ज करवाए बयान

Must Read: कालंद्री थानाधिकारी क्यों नही करती पीड़ितों की एफआईआर दर्ज, बार बार कालंद्री क्षेत्र के पीड़ित ही एफआईआर दर्ज क्यों पहुंचते हैं एसपी कार्यालय?

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :