पुलिस बेटे का बूढी माँ पर अत्याचार : पुलिस कॉन्स्टेबल बेटा मां को कर रहा परेशान, 95 वर्षीय बूढ़ी मां पहुंची थाने, लगाई गुहार 

आज सिरोही जिले के बरलूट थाने में दिलदहला देने वाली तस्वीर नज़र आई। एक 95 वर्षीय बूढ़ी मां अपने ही बेटे के खिलाफ थाने में रिपोर्ट देने पहुंची। और बेटा भी कोई ऐरा गैरा व्यक्ति नही बल्कि पुलिस का सिपाही हैं।

पुलिस कॉन्स्टेबल बेटा मां को कर रहा परेशान, 95 वर्षीय बूढ़ी मां पहुंची थाने, लगाई गुहार 

सिरोही।

आज सिरोही जिले के बरलूट थाने में दिलदहला देने वाली तस्वीर नज़र आई। एक 95 वर्षीय बूढ़ी मां अपने ही बेटे के खिलाफ थाने में रिपोर्ट देने पहुंची। और बेटा भी कोई ऐरा गैरा व्यक्ति नही बल्कि पुलिस का सिपाही हैं। कैलाशनगर निवासी 95 वर्षीय बुजुर्ग अमियादेवी की शिकायत हैं कि उसका सबसे छोटा बेटा पुलिस कॉन्स्टेबल भारमल उसे बार बार परेशान करता हैं। उसके साथ मारपीट करने पर उतारू हो जाता हैं। मां ने पुलिस को दी रिपोर्ट में आरोप लगाया कि उसका बेटा भारमल पुलिस का सिपाही होने के साथ साथ आदतन शराबी हैं। जो हमेशा शराब के नशे में धुत्त होकर आता हैं और उनके व उनके रिश्तेदारों के साथ अनाप शनाप गालियां बोलता हैं। बूढ़ी मां के साथ साथ भारमल अपने दो बड़े भाईयो और मामा को भी फोन करके गालियां देने सहित मारने मरने की धमकियां देता हैं। भाईयो की संपत्ति हड़पने के लिए मां को अनैतिक ढंग से परेशान कर अनुचित दबाव बनाना चाहता हैं। 

कलयुगी बेटे को नही हैं पुलिस की वर्दी की भी इज्जत

कैलाशनगर की रहने वाली अमियादेवी के इस कलयुगी बेटे को अपने बदन पर पहनी खाकी वर्दी की इज्जत का जरा भी ख्याल होता तो शायद आज इस बूढ़ी मां को थाने में आकर उसके खिलाफ रिपोर्ट देने की जरूरत ही नही पड़ती। जिस मां ने उसे 9 महीने अपनी कोख में रखकर जन्म देकर संसार दिखाया। जिसे गरीबी और मुफलिसी में भी अपना पेट काटकर उच्च शिक्षा देकर पुलिस का सिपाही बनाया। आज अगर वो ही पुत्र अपनी मां के साथ दुर्व्यवहार करता हैं तो शायद कलयुग अपनी पराकाष्ठा पर हैं। अब सिरोही जिले के पुलिस कप्तान को ही इस पूरे मामले में दखल देकर इस कलयुगी बेटे के खिलाफ कड़ा एक्शन लेकर इस बूढ़ी मां को न्याय दिलाने की पहल करनी चाहिए। वरना लोगो को खाकी पर से ही विश्वास उठ जाएगा।