ओलिंपिक खिलाडिय़ों से पीएम का संवाद : ओलिंपिक में मेडल जीतकर लौटिए, फिर साथ में खाएंगे  आइसक्रीम, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो ओलिंपिक में जाने वाले भारतीय दल के खिलाडिय़ों से बातचीत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो ओलिंपिक में जाने वाले भारतीय दल के खिलाडिय़ों से मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की। पीएम मोदी ने शटलर पीवी सिंधु से कहा कि टोक्यो में आपकी सफलता के बाद मैं आपके साथ में आइसक्रीम खाऊंगा।

ओलिंपिक में मेडल जीतकर लौटिए, फिर साथ में खाएंगे  आइसक्रीम, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो ओलिंपिक में जाने वाले भारतीय दल के खिलाडिय़ों से बातचीत

नई दिल्ली, एजेंसी। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) में जाने वाले भारतीय दल के खिलाडिय़ों से मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की। प्रधानमंत्री ने तीरंदाज दीपिका कुमारी और प्रवीण जाधव, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा, एथलीट दुती चंद, बॉक्सर आशीष कुमार और मेरीकॉम, टेबल टेनिस प्लेयर मनिका बत्रा और शरत कमल, रेसलर विनेश फोगाट, स्विमर साजन प्रकाश, शूटर इलावेनिल और हॉकी के मनप्रीत सिंह  से चर्चा की।
पीएम मोदी ने शटलर पीवी सिंधु (shuttler PV Sindhu)से कहा कि टोक्यो में आपकी सफलता के बाद मैं आपके साथ में आइसक्रीम खाऊंगा। पीएम मोदी ने बॉक्सर आशीष कुमार(Boxer Ashish Kumar) से बातचीत करते हुए क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर का भी जिक्र किया। दरअसल आशीष ने भी कोविड से लंबी लड़ाई लड़ी थी। इसके अलावा उन्होंने अपने पिता को भी इस महामारी में खोया। इस दौरान पीएम ने सचिन तेंदुलकर का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने अपने खेल से ही अपने दिवंगत पिताजी को श्रद्धांजलि दी। इसी तरह आप भी बिल्कुल वैसा ही उदाहरण दुनिया के सामने रख रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओलिंपिक में पदक विजेता और चैंपियन रहीं मेरीकॉम से बातचीत की। तीरंदाज प्रवीण कुमार जाधव(Archer Praveen Kumar Jadhav) ने पीएम मोदी को बताया कि पहले मैं एथलेटिक्स खेलता था। मेरा सिलेक्शन गवर्नमेंट अकेडमी में हुआ। बाद में अमरावती चला गया। वहां मैं तीरंदाजी करने लगा। मुझे पता था कि मुझे मजदूरी ही करनी पड़ेगी, इसलिए मैंने खेल में करियर बनाने का सोचा और तीरंदाजी जारी रखा। जब भी किसी मुश्किल में पड़ता हूं, तो अपना बैकग्राउंड याद करके खुद को मोटिवेट करता हूं। 
हाथ पर बना तिरंगा प्रेरणा: मनिका
मणिका बत्रा ने PM Modi को बताया कि मैंने हाथ पर तिरंगा बनाया हुआ है। जब मैं इसे देखती हूं तो मुझे काफी प्रेरणा मिलती है। मुझे लगता है कि देश के लिए कुछ करना है। मुझे डांस करना भी पसंद है। इससे मुझे आत्मविश्वास मिलता है। मैं गरीब बच्चों को भी टेबल टेनिस सिखाती हूं। सानिया ने कहा कि जो बच्चे टेनिस में करियर बनाना चाहते हैं, उनको यही कहना चाहती हूं कि आपको मेहनत करनी होगी। बिना मेहनत के किसी भी खेल में आगे बढऩा संभव नहीं है। अब काफी सुविधाएं उपलब्ध हैं। यह मेरा चौथा ओलिंपिक है। कॉमनवेल्थ गेम्स जब से भारत में हुआ है, लोगों की हमसे उम्मीदें बढ़ी हैं। अंकिता रैना के साथ मेरा बेहतर तालमेल रहा।

Must Read: हैंडबॉल प्रतियोगिता में 19 वर्ष आयु वर्ग में राउमावि केशवना, तो 17 वर्ष आयु वर्ग में विवेकानंद मॉडल स्कूल रानीवाड़ा ने जीता विजेता का खिताब

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :