राजस्थान गोड़वाड़ पर्यटन सर्किट: राजस्थान में गोड़वाड़ पर्यटन सर्किट के तौर पर विकसित होंगे पाली, जालोर, सिरोही और बाड़मेर, 22.10 करोड़ के प्रोजेक्ट स्वीकृत

राज्य बजट वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत पाली, जालौर, बाड़मेर व सिरोही जिलों को सम्मिलित करते हुए पर्यटन स्थलों को गोड़वाड़ पर्यटन सर्किट के रूप में विकसित करने के लिए 22.10 करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट स्वीकृत किए गए है।

राजस्थान में गोड़वाड़ पर्यटन सर्किट के तौर पर विकसित होंगे पाली, जालोर, सिरोही और बाड़मेर, 22.10 करोड़ के प्रोजेक्ट स्वीकृत

जयपुर।
राज्य बजट वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत पाली, जालौर, बाड़मेर व सिरोही जिलों को सम्मिलित करते हुए पर्यटन स्थलों को गोड़वाड़ पर्यटन सर्किट के रूप में विकसित करने के लिए 22.10 करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट स्वीकृत किए गए है।
पर्यटन राज्य मंत्री मुरारीलाल मीणा ने मंगलवार को विधानसभा में प्रश्नकाल में विधायक जोराराम कुमावत के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में दिया। मीणा ने कहा कि राज्य बजट वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत पाली, जालौर, बाड़मेर व सिरोही जिलों को सम्मिलित करते हुए पर्यटन स्थलों को गोड़वाड़ पर्यटन सर्किट के रूप में विकसित किए जाने की घोषणा की गई है।
उन्होंने बताया कि सर्किट के अन्तर्गत स्वीकृत विकास कार्यों के लिए 22.10 करोड़ की राशिका प्रोजेक्ट स्वीकृत किया गया है। इसमें जवाई क्षेत्र के विकास के लिए 203.85 लाख रूपए की राशि स्वीकृत है।
जवाई बांध पाली, जालोर, सिरोही जिलों का सबसे बड़ा बांध है।
बांध की सुरक्षा एवं निगरानी के लिए 4 जूम कैमरे एवं 30 बुलेट कैमरे लगाये गए है। 
उन्होंने बताया कि पाली जिले के विधानसभा क्षेत्र सुमेरपुर में फिल्म सिटी शिल्पाली स्थापित करने संबंधी निजी निवेशक द्वारा प्रस्तावित परियोजना हेतु भूमि आवंटन की कार्यवाही नगर पालिका सुमेरपुर के स्तर पर प्रक्रियाधीन है।
उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा किसी भी स्थल विशेष को पर्यटक स्थल घोषित करने का प्रावधान अथवा नीति नहीं है, वरन स्थल विशेष पर्यटकों की आवाजाही से स्वतः ही पर्यटक स्थल बन जाता है। उन्होंने कहा कि विभाग में बजट उपलब्धता एवं प्राथमिकता के आधार पर पर्यटन विकास कार्यों के लिये युक्तियुक्त निर्णय लिया जाता है।

Must Read: बिना जुर्म के जेल में सजा भुगत रहा लखमाराम, दिसम्बर में हो सकती है रिहाई

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :