कोरोना मदद के नाम पर राजनीति: सांसद हनुमान बेनीवाल और सिरोही विधायक संयम लोढ़ा ने पीएम को दी 25 ​सांसदों की दुहाई, सौतले व्यवहार ना करने की अपील

कोरोना संकट काल के दौरान आवश्यक संसाधनों की मांग को लेकर केंद्र और राज्यों के बीच सियासी बयानबाजी का सिलसिला जारी है। एक के बाद एक विधायक या फिर सांसद केंद्र से मदद की मांग कर रहा है। वहीं दूसरी ओर कुछ राजनेता मोदी पर राज्य के साथ भेदभाव का आरोप लगा रहे है।

सांसद हनुमान बेनीवाल और सिरोही विधायक संयम लोढ़ा ने पीएम को  दी 25 ​सांसदों की दुहाई, सौतले व्यवहार ना करने की अपील

जयपुर।
कोरोना संकट काल के दौरान आवश्यक संसाधनों की मांग को लेकर केंद्र और राज्यों के बीच सियासी बयानबाजी का सिलसिला जारी है। एक के बाद एक विधायक या फिर सांसद केंद्र से मदद की मांग कर रहा है। वहीं दूसरी ओर कुछ राजनेता मोदी पर राज्य के साथ भेदभाव का आरोप लगा रहे है। आरएलपी सांसद ने प्रदेश से 25 सांसदों का हवाला देते हुए मदद की मांग की तो सिरोही से निर्दलीय विधायक ने केंद्र की ओर से गुजरात को दिए रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर सवाल उठाए।
प्रदेश की कांग्रेस पार्टी के बाद अब राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने भी केंद्र की मोदी सरकार से राज्य को कोरोना से जंग में आवश्यक संसाधन मुहैया करवाने की मांग की है। आरएलपी सांसद हनुमान बेनीवाल ने 25 सांसदों का हवाला देते हुए बिना किसी भेदभाव के प्रदेश को मदद करने की प्रधानमंत्री से अपील की है। वहीं सांसद ने मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों को भी आड़े हाथ लिया है। सांसद हनुमान बेनीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन को एक ट्वीट में टैग करते हुए कहा कि राजस्थान सरकार को कोरोना से लडऩे के लिए आवश्यक संसाधन उपलब्ध करवाए जाएं ताकि लोगों के जीवन को बचाया जा सके। राजस्थान के साथ किसी प्रकार का सौतेला व्यवहार नहीं करें, क्योंकि आप जब प्रधानमंत्री बने थे तब राजस्थान की जनता ने आपको 25 सांसद दिए थे। आरएलपी सांसद ने तत्काल प्रभाव से राजस्थान के लिए बिना किसी भेदभाव के ऑक्सीजन की आपूर्ति व जीवन रक्षक दवाओं की आपूर्ति बढ़ाते हुए राज्य सरकार का सहयोग करने की भी अपील की। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री से प्रदेश की चरमराई स्वास्थ्य सुविधाओं पर संज्ञान लेने की भी मांग की।

विधायक संयम लोढ़ा ने सांसद राठौड़ के ट्वीट का दिया जवाब


सिरोही से निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि प्रदेश के सभी सांसद इस बात का जवाब दे कि गुजरात में कोरोना एक्टिव रोगी 92,084 है। राजस्थान में 1,07,157 है लेकिन रेमडेसिविर इंजेक्शन गुजरात को 21 अप्रेल को तत्काल आवंटन में दिए गए 1,63,500 जबकि राजस्थान को 26,500 ही क्यों ? इससे पहले जयपुर ग्रामीण से सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने लिखा कि PM narendramodi के नेतृत्व में राजस्थान के सभी सांसद पूरे मनोयोग से प्रदेश की जनता को आवश्यक दवाएं और चिकित्सा सहायता उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इसके जवाब में लोढ़ा ने गुजरात का आंकड़ा रखते हुए राठौड़ से सवाल पूछ लिया। लोढ़ा ने बताया कि सांसद राठौड़ आप तो इसका जवाब दो कि राजस्थान को प्रति एक्टिव #कोरोना पॉजिटिव मरीज 0.64 घन मीटर ही ऑक्सिजन क्यों आवंटित की गई जबकि गुजरात को 8.48 घन मीटर ऑक्सिजन प्रति एक्टिव कोरोना मरीज आवंटित की गई हैं।

Must Read: शरद पवार की पार्टी रांकापा राजस्थान में अपने उम्मीदवार उतारेगी

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :