Indian खिलाड़ियों को विदेश में प्रशिक्षण: Asian Games की तैयारी के लिए भारतीय 4 नाविकों को विदेशों में प्रशिक्षण देने की मिशन ओलंपिक सेल ने दी मंजूरी

युवा मामले और खेल मंत्रालय ने हाल ही में पुनर्गठित मिशन ओलंपिक सेल ने अगले साल चीन के हांगझोऊ में होने वाले एशियाई खेलों के लिए चार नाविकों को प्रशिक्षण देने और विदेशों में मुकाबला करने के प्रस्तावों को मंजूरी दी।

Asian Games की तैयारी के लिए भारतीय 4 नाविकों को विदेशों में प्रशिक्षण देने की मिशन ओलंपिक सेल ने दी मंजूरी

नई दिल्ली, एजेंसी। 
युवा मामले और खेल मंत्रालय ने हाल ही में पुनर्गठित मिशन ओलंपिक सेल ने अगले साल चीन के हांगझोऊ में होने वाले एशियाई खेलों के लिए चार नाविकों को प्रशिक्षण देने और विदेशों में मुकाबला करने के प्रस्तावों को मंजूरी दी। 
चार ओलंपियन नाविकों के प्रस्तावों पर 2.75 करोड़ रुपये से अधिक का खर्च आएगा। 
49 ईआर (दो हाथ वाली स्किफ प्रकार उच्च प्रदर्शन नौकायन डिंगी) नाविक वरुण ठक्कर और केसी गणपति (1.34 करोड़ रुपये)को विदेश में प्रशिक्षण दिया जाएगा। 
वहीं दूसरी ओर लेजर रेडियल विशेषज्ञ नेथरा कुमानन (90.58 लाख रुपये) , लेजर स्टैंडर्ड ऐस विष्णु सरवनन (51.08 लाख रुपये) का उपयोग एशियाई खेलों तक यात्रा, खाने और ठहरने, कोच प्रवेश शुल्क, कोच के वेतन और नाव किराए पर लेने के लिए करेंगे।


एमओसी ने कई प्रस्तावों को भी मंजूर किया है जिन्हें आपातकालीन आधार पर अनुमोदित किया गया था। 
इनमें ओलंपिक खेलों के भाला फेंक में स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा का संयुक्त राज्य अमेरिका के चुला विस्टा में अपने ऑफ सीजन प्रशिक्षण का प्रस्ताव, महिला बैडमिंटन विश्व चैंपियन पीवी सिंधु के स्पेन में बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप में अपने फिटनेस ट्रेनर की सेवाओं को शामिल करने के लिए सहायता देने के प्रस्तावों का समर्थन किया गया। 
सदस्यों ने नवंबर और इस महीने में आयरलैंड, स्कॉटलैंड और वेल्स में टूर्नामेंट में भाग लेने वाले बैडमिंटन खिलाड़ियों के विकास समूह को सहयोग देने की मंजूरी दी। 
शिखा गौतम, अश्विनी भट, प्रियांशु, विष्णुवर्धन, कृष्ण प्रसाद, ईशान, साईप्रतीक, पी गायत्री, त्रिसा, तनीषा, रुतुपर्णा और सामिया फारूकी के लिए इस अनावरण यात्रा (एक्सपोजर ट्रिप) की लागत लगभग 45 लाख रुपये थी।
इसके अलावा एमओसी ने अभिनव साठे को भारतीय पुरुष हॉकी टीम के फिजियोथेरेपिस्ट के रूप में मंजूरी दी। 
जब तक कि एसीटीसी के माध्यम से उनकी फीस के लिए धन नहीं दिया जाता। 
एस्टोनिया, स्वीडन और यूक्रेन में तीन टूर्नामेंट के लिए बैडमिंटन खिलाड़ी अदिति भट्ट को 4.90 लाख रुपये, स्पेन में बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप के लिए लक्ष्य सेन को उनके कोच और फिजियोथेरेपिस्ट के लिए 3 लाख रुपये, स्कीट शूटर गुरजोत सिंह के अनुरोध पर गोला बारूद और क्ले टारगेट (फ्लाइंग टारगेट) के लिए 2.23 लाख रुपये की मंजूरी दी गई।

Must Read: कोरोना में सख्त क्वारेंटाइन नियमों की पालना के साथ एशेज खेलने को तैयार इंग्लैंड क्रिकेट टीम

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :