Medical Minister और मेडिकल कॉलेज : चिकित्सा मंत्री ने सिरोही सहित प्रदेश के 4 नवीन मेडिकल कॉलेजों में अगले सत्र से शिक्षण कार्य शुरू करने के दिए निर्देश

चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश के स्वीकृत 16 नवीन मेडिकल कॉलेजों में से सिरोही, श्रीगंगानगर, चित्तौड़गढ़ और धौलपुर में निर्माण का कार्य प्रारंभ हो गया है। चिकित्सा मंत्री शर्मा ने इन चारों कॉलेजों में आगामी सत्र से वहां शिक्षण कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए।

चिकित्सा मंत्री ने सिरोही सहित प्रदेश के 4 नवीन मेडिकल कॉलेजों में अगले सत्र से शिक्षण कार्य शुरू करने के दिए निर्देश

जयपुर।
चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. रघु शर्मा(Medical Education Minister Dr. Raghu Sharma) ने कहा कि प्रदेश के स्वीकृत 16 नवीन मेडिकल कॉलेजों (Naveen Medical Colleges) में से सिरोही, श्रीगंगानगर, चित्तौड़गढ़ और धौलपुर में निर्माण का कार्य प्रारंभ हो गया है। चिकित्सा मंत्री शर्मा ने इन चारों कॉलेजों में आगामी सत्र से वहां शिक्षण कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए। डॉ. शर्मा ने स्वीकृत 16 मेडिकल कॉेलेजों में से शेष 12 मेडिकल कॉलेजों के निर्माण कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने शेष मेडिकल कॉलेजों के निर्माण कार्य को भी आगामी 15 माह में पूर्ण करने के निर्देश दिए। चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. रघु शर्मा की अध्यक्षता में राजस्थान मेडिकल एजूकेशन सोसायटी(Rajasthan Medical Education Society) की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में निर्माणाधीन एवं प्रस्तावित सभी मेडिकल कॉलेजों के निर्माण के संबंध में अब तक हुई कार्यवाही की विस्तार से समीक्षा की गई। डॉ शर्मा ने प्रदेश में सभी निर्माणाधीन और प्रस्तावित कॉलेजों के निर्माण कार्यों को गुणवत्ता के साथ निर्धारित समयावधि में पूर्ण करना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ किसी भी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। गुणवत्ता की जांच कराने के उपरांत ही संबंधित कंपनियों को भुगतान की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने निर्माण करने वाली एजेंसियों से निर्माण कार्यों के मासिक लक्ष्य निर्धारित कर उनकी प्रगति की निरंतर समीक्षा करने के भी निर्देश दिए।


 3 मेडिकल कॉलेजों का निर्माण कार्य 10 अक्टूबर से
चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने दौसा, हनुमानगढ़ और बांसवाड़ा जिलों में मेडिकल कॉलेज के निर्माण का कार्य आगामी 2 अक्टूबर से एवं नागौर, टोंक और करौली जिले में आगामी 10 अक्टूबर से निर्माण कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्माण कार्य में गति लाने के लिए संबंधित कंपनियों को 2 अथवा 3 शिफ्ट में कार्य करवाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने जैसलमेर, सवाईमाधोपुर, अलवर और बारां में निर्माण संबंधी कार्यों में गति लाने तथा बूंदी व झुंझुनूं जिलों के मेडिकल कॉलेजों से जुड़े कार्यों को भी जल्द से जल्द प्रारंभ करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रथम चरण में पूर्व में निर्मित व संचालित भरतपुर, भीलवाड़ा, बाड़मेर और सीकर जिलों के मेडिकल कॉलेजों के छात्रों की बढ़ी हुई संख्या के अनुरूप विस्तार के लिए किए जाने वाले के निर्माण कार्यों को भी निर्धारित समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए।

देश के अन्य राज्यों में टीम भेजने के निर्देश  
डॉ शर्मा ने नवीन मेडिकल कॉलेजों में आधुनिक तकनीक और जानकारियों के समावेशन के लिए देश के अन्य राज्यों में बने उत्कृष्ट मेडिकल कॉलेजों के भवनों का एक टीम बनाकर निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए, ताकि उनमें हुए अच्छे एवं गुणवत्तापूर्ण निर्माण कार्यों के अनुरूप राजस्थान में भी भविष्य में बनने जा रहे मेडिकल कॉलेजों हेतु काम किया जा सके। उन्होंने संबंधित कंपनियों को सभी मेडिकल कॉलेजों के भवनों में एकरुपता रखने के भी निर्देश दिए। बैठक के दौरान चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गलारिया, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा  शिवांगी स्वर्णकार व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे, जबकि संबंधित मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य व अन्य अधिकारीगण वर्चुअली जुड़े रहे।

Must Read: राजस्थान के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट का जन्मदिन 7 सितंबर को, शक्ति प्रदर्शन में जुटे समर्थक, 10 लाख पौधे लगाने की तैयारी 

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :