Rajasthan पर्यटकों के लिए लाइट&साउंड शो: Rajasthan में पर्यटकों को आकर्षित करेगा लाइट एंड साउंड शो, CM ने जयपुर, धौलपुर, जैसलमेर, नागौर और चित्तौड़ में किया लोकार्पण

पर्यटन के क्षेत्र में राजस्थान को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए गहलोत सरकार ने 500 करोड़ रूपए का पर्यटन विकास कोष बनाने का अहम निर्णय किया है।

Rajasthan में पर्यटकों को आकर्षित करेगा लाइट एंड साउंड शो, CM  ने जयपुर, धौलपुर, जैसलमेर, नागौर और चित्तौड़ में किया लोकार्पण

जयपुर।
प्रदेश के पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए राज्य की गहलोत  सरकार नए नए प्रोजेक्ट पर कार्य कर रही हैं। 
पर्यटन के क्षेत्र में राजस्थान को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए गहलोत सरकार ने 500 करोड़ रूपए का पर्यटन विकास कोष बनाने का अहम निर्णय किया है। 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सोमवार को प्रदेश के 5 प्रमुख पर्यटक स्थलों पर लाइट एंड साउंड शो के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे।
मुुख्यमंत्री गहलोत ने जयपुर के प्रमुख धार्मिक स्थल गोविंद देव जी मंदिर परिसर स्थित जयनिवास उद्यान, मेड़ता में मीराबाई स्मारक, चित्तौड़गढ़ के विश्व विख्यात दुर्ग, धौलपुर के मचकुंड और जैसलमेर की ऐतिहासिक गड़सीसर झील में लेजर वाटर शो का लोकार्पण किया।
सीएम ने कहा कि पर्यटन के क्षेत्र में राजस्थान की देश और दुनिया में विशिष्ट पहचान है। 
इससे बड़ी संख्या में देशी और विदेशी पर्यटक यहां की मनभावन संस्कृति, किलों, महलों, बावडियों तथा वाइल्ड लाइफ, डेजर्ट आदि से जुड़े आकर्षक स्थलों को देखने आते हैं। 
इससे रोजगार में पर्यटन उद्योग की महत्वपूर्ण भूमिका है। लाखों लोगों की आजीविका इससे जुड़ी हुई है। 
दुनिया के कई मुल्कों की अर्थव्यवस्था पर्यटन उद्योग पर निर्भर करती है। उन्होंने कहा कि धार्मिक, वाइल्ड लाइफ, ट्राईबल, डेजर्ट पर्यटन को प्रोत्साहित करने के लिए नए-नए सर्किट जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। 
इसके साथ ही सभी प्रमुख धार्मिक एवं पर्यटन स्थलों पर विकास के कार्य किए जा रहे हैं। 
कोरोना महामारी से प्रभावित इस उद्योग को संबल देने में भी सरकार कोई कमी नहीं रख रही है। 
कोविड के कारण पूरी दुनिया में वेलनैस टूरिज्म एवं इससे जुड़ी गतिविधियों का महत्व बढ़ा है। प्रदेश में भी इस टूरिज्म को प्रोत्साहित करने पर काम हो रहा है।
गहलोत ने कहा कि राज्य की नई पर्यटन नीति, पेइंग गेस्ट हाउस स्कीम, कोरोना की विषम परिस्थितियों से प्रभावित पर्यटन उद्यमियों को आर्थिक संबल देने के लिए मुख्यमंत्री संबल योजना, गाइडों का मानदेय तीन गुना तक बढ़ाने जैसे निर्णयों से पर्यटन क्षेत्र में आत्मविश्वास लौटा है।
हालांकि अब हमें मास्क पहनने, वैक्सीनेशन आदि सुरक्षात्मक उपायों को अपनाते हुए कोई ढिलाई नहीं बरतनी है।
कार्यक्रम में केन्द्रीय संस्कृति राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि स्वदेश योजनान्तर्गत जिन 5 स्थानों पर लाइट एण्ड साउण्ड शो का आज लोकार्पण किया जा रहा है, उन स्थानों का इतिहास एवं पर्यटन की दृष्टि से बड़ा महत्व है।
इससे देशी एवं विदेशी सैलानियों को राजस्थान के गौरवपूर्ण इतिहास एवं समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को जानने का अवसर मिलेगा। इससे प्रदेश के पर्यटन विकास को गति मिलेगी।


प्रदेश के पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि कोरोना से प्रभावित प्रदेश का पर्यटन उद्योग फिर से पटरी पर लौट रहा है।
राज्य सरकार के निर्णयों एवं प्रयासों से इस उद्योग को बड़ा संबल मिला है। 
उन्होंने केन्द्रीय संस्कृति राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल से आग्रह किया कि वे केन्द्र सरकार के स्तर पर लंबित प्रदेश के पर्यटन विकास की दृष्टि से महत्वपूर्ण 8 मेगा प्रोजेक्ट्स को शीघ्र मंजूरी देने के लिए पहल करें। 
उन्होंने कहा कि राज्य में एयर कनेक्टिविटी को बढ़ावा देकर घरेलू पर्यटन को नई उंचाईयों पर ले जाया जा सकता है और पर्यटन विभाग इस दिशा में सकारात्मक सोच के साथ काम करेगा। 
प्रमुख शासन सचिव पर्यटन गायत्री राठौड ने बताया कि पर्यटन मंत्रालय की स्वदेश दर्शन योजना के तहत प्रदेश में स्वीकृत 8 प्रोजेक्ट्स में से 5 लाइट एंड साउंड शो तथा लेजर वाटर शो का लोकार्पण आज किया गया है। शेष 3 स्थानों पर भी जल्द ही ये शो शुरू होंगे।
इस अवसर पर जलदाय मंत्री डॉ. महेश जोशी, पर्यटन निदेशक  निशांत जैन, राजस्थान संगीत नाटक अकादमी के पूर्व अध्यक्ष रमेश बोराणा सहित पर्यटन विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मुख्यमंत्री निवास पर मौजूद रहे।

Must Read: शक्ति परीक्षण से पहले उद्धव खेमे को एक और झटका, जानें अब क्या हुआ?

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :