Canada @ भारतीय मूल की नई रक्षा मंत्री: भारतीय मूल की महिला अनिता आनंद कनाडा की नई रक्षामंत्री, सेना को सुरक्षित महसूस कराना पहली प्राथमिकता

विदेशों में भारतीय मूल की महिलाएं देश का नाम रोशन कर रही है। अमेरिका की राजनीति के बाद अब कनाडा में भी भारतीय मूल की पॉलिटिशियन अनिता आनंद को कैबिनेट में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है। अनिता आनंद कनाडा की नई रक्षामंत्री बनी हैं। जस्टिन ट्रूडो की कैबिनेट में अनिता आनंद को पूर्व रक्षामंत्री हरजीत सिंह सज्जन को हटाकर रक

भारतीय मूल की महिला अनिता आनंद कनाडा की नई रक्षामंत्री, सेना को सुरक्षित महसूस कराना पहली प्राथमिकता

नई दिल्ली, एजेंसी। 
विदेशों में भारतीय मूल की महिलाएं देश का नाम रोशन कर रही है। अमेरिका की राजनीति के बाद अब कनाडा में भी भारतीय मूल की पॉलिटिशियन अनिता आनंद को कैबिनेट में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है। अनिता आनंद कनाडा की नई रक्षामंत्री बनी हैं। जस्टिन ट्रूडो की कैबिनेट में अनिता आनंद को पूर्व रक्षामंत्री हरजीत सिंह सज्जन को हटाकर रक्षामंत्री पद दिया गया है। कनाडा में हाल ही में चुनावों के बाद लिबरल पार्टी ने सरकार बनाई है। अनिता लिबरल पार्टी की सदस्य हैं। अनिता आनंद कनाडा में रक्षा मंत्रालय संभालने वाली दूसरी महिला होंगी। इससे पहले वर्ष 1990 में किम कैंबल ने इस पद की जिम्मेदारी संभाली थी। कनाडा में रक्षामंत्री की जिम्मेदारी संभालने के बाद अनिता आनंद ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उनकी पहली जिम्मेदारी कनाडा की सेना को सुरक्षित महसूस कराना है।

कोरोना काल में कनाडा के लिए वैक्सीन खरीदने के साथ उसकी आपूर्ति सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी अनिता आनंद पर ही थी। रक्षामंत्री की जिम्मेदारी संभालने के बाद अनिता आनंद ने सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो का आभार जताया। रक्षा मंत्री ने कहा कि कनाडा की आर्मी देश के लोगों की सुरक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगा रही है। गौरतलब है कि 54 साल की अनिता आनंद पेशे से तो वकील है। वे 2019 में कैबिनेट मंत्री बनी थीं। उस दौरान उन्हे सार्वजनिक सेवाओं का खरीद मंत्री बनाया गया था। अनिता की मां तमिलनाडु और पिता पंजाब के रहने वाले थे। हालांकि अनिता का जन्म कनाडा में ही हुआ था।  
यौन शोषण के आरोप के बाद बदला रक्षा मंत्री
कनाडा मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सैन्य अधिकारियों पर महिला सैनिकों द्वारा यौन शोषण का आरोप लगाया गया था। ऐसे आरोप थे कि पूर्व रक्षामंत्री हरजीत सिंह इन मामलों को मैनेज नहीं कर पाए। इसके बाद से रक्षा विशेषज्ञ अनिता को रक्षामंत्री बनाए जाने की मांग उठाने लगे। विशेषज्ञों का ऐसा मानना था कि अनिता आनंद को रक्षामंत्री बनाए जाने के बाद यौन शोषण के पीड़ितों के बीच अच्छा संदेश जाएगा। सज्जन को अंतरराष्ट्रीय विकास एजेंसी मंत्री बनाया गया है। 

Must Read: अमेरिका ने यूक्रेन के लिए सबसे बड़े हथियार पैकेज का किया ऐलान

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :