मरूधरा पानी-पानी! : राजस्थान में बारिश का कहर जारी, कई जिलों में बाढ़ के हालात, स्कूलों में अवकाश, वाहनों की जगह सड़कों पर दौड़ रही नावें

Flood Situation in Rajasthan: रेत के धोरों से तपती मरूधरा की भूमि अब पानी-पानी हो गई है। मानसून की मेहरबानी अब लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। राजस्थान में पिछले चार दिनों से भारी बारिश का दौर बना हुआ है। जिसके चलते कई जिलों में बाढ़ के हालात बने हुए है।

राजस्थान में बारिश का कहर जारी, कई जिलों में बाढ़ के हालात, स्कूलों में अवकाश, वाहनों की जगह सड़कों पर दौड़ रही नावें

जयपुर | Flood Situation in Rajasthan: रेत के धोरों से तपती मरूधरा की भूमि अब पानी-पानी हो गई है। मानसून की मेहरबानी अब लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। राजस्थान में पिछले चार दिनों से भारी बारिश का दौर बना हुआ है। जिसके चलते कई जिलों में बाढ़ के हालात बने हुए है। पानी से घिरे लोगों को प्रशानसन बचाने की जुगत में लगा हुआ है। प्रदेश के कोटा, झालावाड़, टोंक समेत कई जिलों एक बार फिर से अति भारी बारिश ने तांडव मचा दिया है। जिसके चलते हाड़ौती अंचल में सभी सरकारी और निजी स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है।  वहीं, बारिश के कारण 5 लोगों की बहने से मौत हो गई है।

एमपी के बाद अब राजस्थान में कोहराम मचा रहा चक्रवात
बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवात ने आगे बढ़ते हुए पहले एमपी और फिर राजस्थान में जमकर कोहराम मचाया। इसके प्रभाव से प्रदेश के कई हिस्सों में अति भारी बारिश दर्ज हुई। नदियों के उफान मारने और बांधों के गेट खोलने से ये स्थिति और भी विकट हो गई है। कोटा संभाग में बाढ़ जैसे हालात बन गए। कई गांव पानी से घिरे हुए हैं। चम्बल, कालीसिंध, पार्वती, उजाड़, आहू समेत कई नदियां उफान पर आ गई। कोटा जिला प्रशासन ने जलभराव क्षेत्रों से 1500 नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाकर 10 विद्यालयों में एवं नगर निगम की ओर से बनाए गए 5 अस्थाई आश्रय स्थलों पर सुरक्षित पहुंचाया गया है।

ये भी पढ़ें:- महापौर सौम्या गुर्जर पर एक्शन की तैयारी: गहलोत सरकार ने 3 पार्षदों को किया बर्खास्त, 6 साल तक चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध

जयपुर में भी राहत की बारिश
अति भारी बारिश ने दो राज्यों राजस्थान और मध्यप्रदेश का सम्पर्क काट दिया है। बीते 24 घंटों में कोटा शहर में 248.9, झालावाड़ जिले के डग कस्बे में 234, बूंदी के नैनवां में 219 व बारां के अन्ता उपखंड़ क्षेत्र में 170 एमएम बारिश दर्ज की गई। अच्छी बारिश के इंतजार में बैठे राजधानी जयपुर के लोगों को भी दो दिन से राहत मिली है। जयपुर में भी सोमवार को बादल जमकर बरसे जिससे सड़के लबालब हो गई। आज मंगलवार को भी सुबह से ही आसमान बादलों से घिरा हुआ है और हल्की फुहारों बार-बार ठंडे मौसम का अहसास करा रही है।

ये भी पढ़ें:- लगे भ्रष्टाचार के आरोप: पंजाब में पूर्व कांग्रेस मंत्री भरत भूषण आशु गिरफ्तार, पार्टी नेता बोले- बदले की कार्रवाई

वाहनों की जगह सड़कों पर दौड़ रही नावें
भारी बारिश से झालावाड़, टोंक, बारां, बूंदी समेत कोटा बुरी तरह से प्रभावित है। कोटा में एक दर्जन से अधिक कॉलोनियां पानी से घिर गई है। रेस्क्यू टीम नावों से लोगों को बाहर निकालने में गई हुई है। सड़कों पर अब वाहन की जगह नावें दौड़ रही है। कोटा, बूंदी, झालावाड़ और बारां जिले में मंगलवार को सभी सरकारी, निजी स्कूलों में अवकाश घोषित किया गया हैं। लोगों को बचाने के लिए एसडीआरएफ टीम ने मोर्चा संभाला है।

Must Read: खेतों में लीज की आड़ में नदियों किनारे अवैध बजरी खनन पर चार सप्ताह में मांगा जवाब

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :