लौटाई नेत्र ज्योति, कायम किया रिकार्ड: डॉ. रघुबीर सिंह चौहान दांतिया ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किया जालोर का नाम रोशन

डॉ. दांतिया ने एक ऐसी महिला के नैत्रों की ज्योति लौटाई जो एनपोर्ट सिन्ड्रोम से ग्रसित हैं। इस महिला की किडनी का ट्रांसप्लांट हो चुका है और सुनाई भी कम देता है। इसका प्राकृतिक लैंस शंकुलैंस यानि कि लैटीकोनरन बन गया था। सिंह ने उस महिला की आंख की पुतली के अनुसार बोस्टन साईट लैंस बनाया और उनकी आंखों में फिट करके

डॉ. रघुबीर सिंह चौहान दांतिया ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किया जालोर का नाम रोशन

जालोर | जिले में सांचौर तहसील के दांतिया गांव निवासी नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. रघुबीर सिंह चौहान दांतिया ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जिले का नाम रोशन किया है। छठी इंटरनेशनल कान्फ्रेंस आफ आई एण्ड विजन में पेपर प्रजेंटेशन में चौहान को प्रथम स्थान मिला है। उन्हें इसके लिए अवार्ड प्रदान किया गया है।

डॉ. दांतिया ने एक ऐसी महिला के नैत्रों की ज्योति लौटाई जो एनपोर्ट सिन्ड्रोम से ग्रसित हैं। इस महिला की किडनी का ट्रांसप्लांट हो चुका है और सुनाई भी कम देता है। इसका प्राकृतिक लैंस शंकुलैंस यानि कि लैटीकोनरन बन गया था। सिंह ने उस महिला की आंख की पुतली के अनुसार बोस्टन साईट लैंस बनाया और उनकी आंखों में फिट करके उसकी रोशनी लौटाई।

डॉ. दांतिया ने अपना यह काम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रस्तुत किया तो दुनिया भर के नेत्र विशेषज्ञों ने इसकी तारीफ की और बेस्ट पेपर प्रजेंटेशन अवार्ड से नवाजा है।

Zअमेरिका में हो चुके हैं सम्मानित
एक छोटे से गांव से निकले डॉ. दांतिया पहले भी अपने रिसर्च के लिए अमेरिका के शिकागो शहर में सम्मानित हो चुके हैं। यही नहीं इन्होंने अफ्रीका के गैबोन देश के सभी नागरिकों की नेत्र जांच का एक प्रोजेक्ट भी बेहतरी से पूरा किया था।

फिलहाल डॉ. दांतिया अहमदाबाद के एक प्रतिष्ठित अस्पताल में सेवाएं दे रहे हैं। साथ ही वे जालोर जिले में भी अपने जिले के लोगों के नेत्र रोगों को ठीक करने के लिए प्रभावी काम कर रहे हैं।

Must Read: भगवानसिंह रोलसाहबसर बोले, सभी को साथ लेकर चलो और लक्ष्य प्राप्ति तक मत रुको

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :