मानसून की बारिश : मानसून के सक्रिय होने के साथ ही आसमान से आई आफत, कश्मीर में बादल फटा, यूपी,एमपी और राजस्थान में बिजली गिरने से 75 लोगों की मौत

करीब चार हफ्तों से शांत मानसून अब एक बार फिर से सक्रिय हो गया। मध्यप्रदेश, राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के कई जिलों में एक-दो दिन से रुक-रुककर बारिश का दौर शुरू हो गया। रविवार को बिजली गिरने से यूपी में 40, राजस्थान में 22 और मध्यप्रदेश में 13 लोगों की मौत हो गई।

मानसून के सक्रिय होने के साथ ही आसमान से आई आफत, कश्मीर में बादल फटा, यूपी,एमपी और राजस्थान में बिजली गिरने से 75 लोगों की मौत

जयपुर।
करीब चार हफ्तों से शांत मानसून (Monsoon) अब एक बार फिर से सक्रिय हो गया। मध्यप्रदेश, राजस्थान, पंजाब और हरियाणा (Madhya Pradesh, Rajasthan, Punjab and Haryana) के कई जिलों में एक-दो दिन से रुक-रुककर बारिश का दौर शुरू हो गया। रविवार को बिजली गिरने से UP में 40, Rajasthan में 22 और मध्यप्रदेश में 13 लोगों की मौत हो गई। इसमें राजस्थान के जयपुर में 11 लोगों की मौत पर्यटन स्थल आमेर के वॉच टावर (Amber's Watch Tower) में हो गई। वहीं दूसरी ओर जम्मू-कश्मीर में बादल फटने (Cloudburst in Jammu and Kashmir)की घटना भी सामने आई है। सेंट्रल कश्मीर के गांदरबल में बादल फटने से बाढ़ जैसे हालात बन गए। घरों में पानी घुस गया। कई दुकानें और सड़कें क्षतिग्रस्त हो गईं। घटना के बाद प्रशासन ने रात में ही राहत और बचाव का काम चलाया। इधर, हिमाचल प्रदेश में भी बारिश ने कहर बरपाया है। यहां धर्मशाला और राजधानी शिमला सहित कई जिलों में जोरदार बारिश हुई। शिमला में भारी बारिश के बाद झाकरी और रामपुर से गुजरने वाला नेशनल हाईवे ब्लॉक हो गया। बिहार के 14 जिलों में भारी बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है। 


राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक घंटे में 2 इंच बारिश
राज्य में मानसून के फिर सक्रिय होने के साथ रविवार को जयपुर में जबर्दस्त बारिश हुई। शाम को एक घंटे में ही करीब सवा 2 इंच बारिश हुई। इससे भीषण गर्मी से लोगों को कुछ राहत मिली है। जयपुर में तेज हवा चलने के कारण कई जगह बिजली के तार टूट गए, जिससे शहर के कुछ हिस्सों में कई घंटों तक अंधेरा छाया रहा। जबकि जयपुर में तेज बारिश के बीच रविवार को आमेर महल में बने वॉच टावर पर बिजली गिर गई। यहां घूम रहे 35 से ज्यादा टूरिस्ट इसकी चपेट में आ गए। एडिशनल पुलिस कमिश्नर राहुल प्रकाश ने सोमवार सुबह 11 लोगों की मौत की पुष्टि की।


सीएम ने 5 लाख रुपए की सहायता राशी की घोषणा
मुख्यमंत्री  अशोक गहलोत ने सभी मृतकों के परिजनों के लिए आपदा प्रबन्धन विभाग से 4 लाख रुपए और मुख्यमंत्री सहायता कोष से एक लाख रुपए देनी की घोषणा की तथा सभी घायलों को नियमानुसार मुआवजा देने के निर्देश दिए हैं। जयपुर कंट्रोल रूम द्वारा सूचना दी गई कि जयपुर में आकाशीय बिजली गिरने से 11 जनों की मृत्यु हुई जिसमें जीशान्त पुत्र ईसाक, शोयब पुत्र मो. समीम, मो. शाकिब पुत्र मो. सगौर, नाजिम पुत्र अब्दुल, शिवानी पुत्री गुरूबचन, आरीफ पुत्र बाबुदीन, राजादास पुत्र निखिल दास, वैभव जाखड पुत्र महेश जाखड, अभिनीष सिंह पुत्र बलदेव सिंह, अमित शर्मा पुत्र गुरूवर्धन, अमन मीणा पुत्र भोलू राम है।

Must Read: पाली के नाना से बड़ी खबर, वरावल टोल प्लाजा पर टोलकर्मियों की खुलेआम गुंडागर्दी, बारात की गाडी पर किया हमला

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :