एम्स में आसाराम: कोरोना पॉजिटिव आसाराम की सेहत स्थिर, ऑक्सीजन लेवल नॉर्मल

कोरोना संक्रमित आसाराम की सेहत फिलहाल स्थिर बनी हुई है। जोधपुर एम्स के आईसीयू में भर्ती आसाराम को ऑक्सीजन दी जा रही है। उनके शरीर का ऑक्सीजन लेवल 90 से 92 के बीच चल रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि तीन-चार दिन में वे कोरोना से पूरी तरह उबर जाएंगे। एम्स में आसाराम सामान्य महसूस कर रहा है।

कोरोना पॉजिटिव आसाराम की सेहत स्थिर, ऑक्सीजन लेवल नॉर्मल

 जोधपुर।
कोरोना संक्रमित आसाराम (Asaram ) की सेहत फिलहाल स्थिर बनी हुई है। जोधपुर एम्स (Jodhpur AIIMS) के आईसीयू में भर्ती आसाराम को ऑक्सीजन दी जा रही है। उनके शरीर का ऑक्सीजन लेवल 90 से 92 के बीच चल रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि तीन-चार दिन में वे कोरोना से पूरी तरह उबर जाएंगे। एम्स में आसाराम सामान्य महसूस कर रहा है। हालांकि उसके ऑक्सीजन लगी है। वह आराम से बात कर रहा है। अस्पताल का भोजन ही उसे दिया जा रहा है। आसाराम डॉक्टरों व नर्सिंग कर्मचारियों के साथ खुलकर बात कर रहा है। उसका कहना है कि वह अब पहले से बेहतर महसूस कर रहा है। उसके स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है। गत सप्ताह जेल में बंदियों के कोरोना सैंपल लिए गए थे। उसमें से कुछ अन्य बंदियों के साथ आसाराम भी पॉजिटिव (Corona positive) पाया गया था।

अधिक खबरों के लिए https://firstbharat.in/   पर क्लिक करें

उसे जेल में आइसोलेट कर इलाज शुरू किया गया था, लेकिन रात को ऑक्सीजन लेवल घटने पर महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया। महात्मा गांधी अस्पताल के बाहर उसके समर्थकों की बढ़ती भीड़ से निजात पाने और सुरक्षा कारणों से उसे दो दिन बाद एम्स में भर्ती करा दिया गया। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2013 में जोधपुर में अपने गुरुकुल की एक नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीडऩ मामले में तीन वर्ष पूर्व आसाराम को मरते दम तक आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। वह वर्ष 2013 से जोधपुर जेल में बंद है। हाल ही उसने राजस्थान हाईकोर्ट में एक याचिका दायर कर अपनी अन्य बीमारियों का इलाज आयुर्वेद पद्धति से कराने के लिए दो माह की अंतरिम जमानत मांगी है। उसकी याचिका पर हाईकोर्ट ने एम्स से मेडिकल रिपोर्ट मांगी है। याचिका पर अब गुरुवार को सुनवाई होगी।

Must Read: सिरोही से 20 लाख रुपए रिश्वत के जलाते हुए ​एसीबी की गिरफ्त में आए अधिका​री ने करोड़ों की भूमि हड़पने के लिए कर दी गलत तरमीम, राजस्व रिकॉर्ड में हेरफेर का मामला

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :