जयपुर नगर निगम में एसीबी ट्रेप: राजधानी के ग्रेटर नगर निगम का राजस्व अधिकारी 30 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, सीएम ने की एसीबी की तारीफ

राजधानी जयपुर में एसीबी की कार्रवाई की गई। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने शुक्रवार को जयपुर नगर निगम ग्रेटर के राजस्व अधिकारी (RO) को 30 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

राजधानी के ग्रेटर नगर निगम का राजस्व अधिकारी 30 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, सीएम ने की एसीबी की तारीफ

जयपुर। 
सिरोही में राजस्व निरीक्षक और तहसीलदार का एसीबी ट्रेप होने के बाद एसीबी ने एक ओर राजस्व अधिकारी को रंगेहाथों रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया, लेकिन इस बार प्रदेश की राजधानी जयपुर में एसीबी की कार्रवाई की गई। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने शुक्रवार को जयपुर नगर निगम ग्रेटर के राजस्व अधिकारी (RO) को 30 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। राजस्व अधिकारी राहुल कुमार अग्रवाल ने ये रिश्वत एक भूखण्ड का पट्टा जारी करने की एवज में मांगी थी। इससे पहले उसने पीड़ित से 50 हजार रुपए मांगे थे, लेकिन बाद में सौदा 30 हजार रुपए में तय हुआ।
एबीसी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरोत्तम वर्मा ने बताया कि परिवादी ने शिकायत की थी कि वह 2017 से झोटवाड़ा स्थित अपने आवास का पट्‌टा लेने के लिए नगर निगम के चक्कर काट रहा है, लेकिन रिश्वत नहीं देने के कारण नगर निगम अधिकारी पट्‌टा जारी नहीं कर रहे। योजना के मुताबिक परिवादी आज रिश्वत के 30 हजार रुपए देने देर शाम नगर निगम ग्रेटर मुख्यालय में पहुंचा। यहां परिवादी ने जैसे ही राजस्व अधिकारी को रिश्वत की रकम दी और बाहर निकला तभी एबीसी टीम ने उसे धर दबोचा लिया। नरोत्तम वर्मा ने बताया कि राजस्व अधिकारी की नगर निगम जयपुर ग्रेटर में प्लानिंग सेक्शन में 4 महीने पहले ही पोस्टिंग हुई थी। पोस्टिंग मिलने के बाद जब परिवादी उससे मिला तो पहले तो उसने कुछ दिन यूं ही उसे चक्कर कटवाए। इसके बाद उसने पट्‌टा जारी करने की एवज में परिवादी से 50 हजार रुपए मांगे।

सीएम ने की एसीबी की तारीफ


इधर, सोशल मीडिया पर सीएम अशोक गहलोत ने आज दोपहर को ही एसीबी की तारीफ की थी। सीएम ने ट्वीट कर लिखा कि एसीबी राजस्थान में भ्रष्टाचार के विरुद्ध लगातार कार्रवाई कर रही है। इससे भ्रष्ट लोगों में भय का माहौल है। भ्रष्टाचार का खात्मा आमजन के सहयोग से ही संभव है। आमजन किसी भी भ्रष्ट गतिविधि की सूचना ACB के हेल्पलाइन नंबर 1064 या वॉट्सऐप नंबर 9413502834 पर जरूर दें।

Must Read: खेतों में लीज की आड़ में नदियों किनारे अवैध बजरी खनन पर चार सप्ताह में मांगा जवाब

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :