सीएस ने ली यातायात प्रबंधन समिति की बैठक: मुख्य सचिव उषा शर्मा ने राज्य यातायात प्रबंधन समिति की बैठक में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति के पास शीघ्र एम्बुलेंस व्यवस्था के दिए निर्देश

मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति के पास एम्बुलेंस शीघ्र पहुंचनी चाहिए जिससे घायल व्यक्ति को समय पर अस्पताल पहुंचया जा सके। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क दुर्घटना से संबंधित संवेदनशील स्थानों की पहचान कर वहां आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाए।

मुख्य सचिव उषा शर्मा ने राज्य यातायात प्रबंधन समिति की बैठक में सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति के पास शीघ्र एम्बुलेंस व्यवस्था के दिए निर्देश

जयपुर।
मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति के पास एम्बुलेंस शीघ्र पहुंचनी चाहिए जिससे घायल व्यक्ति को समय पर अस्पताल पहुंचया जा सके। 
उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क दुर्घटना से संबंधित संवेदनशील स्थानों की पहचान कर वहां आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जाए।
शर्मा ने यह बात सोमवार को यहां सचिवालय में राज्य यातायात प्रबंधन समिति की समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए कही। 
उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा से जुड़े सभी मुद्दों पर विस्तृत कार्ययोजना बनाकर जिलों तथा संबंधित विभागों के माध्यम से उचित समन्वय के साथ कार्य किया जाना चाहिए। 
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षा योजना का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाना चाहिए जिसके तहत सड़क दुर्घटना में गंभीर घायलों को अस्पताल पहुंचाने वाले व्यक्ति को इनाम राशि स्वरूप 5 हजार रूपए प्रदान किए जाते है। 
उन्होंने कहा कि इस योजना के हॉर्डिंग्स सड़कों के अलावा ग्राम पंचायत तथा थानों में भी लगाए जाने चाहिए। 
मुख्य सचिव ने कहा कि जिला कलक्टर की अध्यक्षता में जो जिला यातायात प्रबंधन समिति बनी हुई है वहां पर सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए नियमित बैठक की जानी चाहिए।
इस संबंध में अधिकारियों का प्रशिक्षण भी होना चाहिए। उन्होंने परिवहन एवं सड़क सुरक्षा विभाग तथा ट्रैफिक पुलिस द्वारा सड़क सुरक्षा के लिए बनाई गई कार्ययोजना की तारीफ करते हुए कहा कि सभी जिलों एवं विभागों को इसकी अनुपालना करनी चाहिए।  
बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव, परिवहन एवं सड़क सुरक्षा अभय कुमार ने आई -रेड (इन्टीग्रेटेड रोड एक्सीडेंट डेटाबेस) का प्रस्तुतीकरण के माध्यम से बताया कि इस एप के उपयोग से सड़क दुर्घटना से संबंधी लाइव डेटा प्राप्त हो जाता है।
इससे दुर्घटना स्थल पर एम्बुलेंस शीघ्र पहुंचाई जा सकें।
इस अवसर पर परिवहन आयुक्त महेन्द्र सिंह सोनी ने सड़क दुर्घटनाओं की समीक्षा, बजट घोषणाओं में सड़क सुरक्षा संबंधी नवाचार, सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे विभागीय प्रयास, मुख्यमंत्री सड़क सुरक्षा पुरूस्कार सहित विभिन्न बिन्दुओं पर प्रस्तुतीकरण के माध्यम से समझाया।
बैठक में नगरीय विकास विभाग के प्रमुख शासन सचिव  कुंजीलाल मीणा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सचिव आशुतोष ए. डी. पेडनेकर, अतिरिक्त महानिदेशक ट्रैफिक वी.के. सिंह सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी, सड़क सुरक्षा के विशेषज्ञ प्रोफेसर भी वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जुडे़ हुए थे। 

Must Read: कर्नाटक के बाद राजस्थान में शुरू हुआ हिजाब विवाद, राजधानी की कॉलेज में हिजाब के साथ पहुंची छात्राओं का विरोध

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :