कब बनेगा राम मंदिर : भगवान श्री राम दिसम्बर 2023 तक आएंगे में अपने स्थायी घर में : चम्पत राय

अयोध्या में भगवान राम की जन्मभूमि पर बनने वाले मंदिर कार्य पिंडवाड़ा में तेज गति से चल रहा है। यहाँ पर तीन कार्यशालाओं में मंदिर निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है जो यहाँ से अयोध्या जाएंगे। इसी को लेकर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ के महासचिव चम्पत राय व टीम पिंडवाड़ा दौरे पर थी।

भगवान श्री राम दिसम्बर 2023 तक आएंगे में अपने स्थायी घर में : चम्पत राय

फर्स्ट भारत . पिंडवाड़ा |श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चम्पत राय अयोध्या में बनने वाले भगवान राम के मंदिर को लेकर बुधवार को पिंडवाड़ा दौरे पर रहे। इस दौरान पिंडवाड़ा में चल रही कार्यशालाओं में कार्य कर रहे कारीगरों से कार्य के बारे में जानकारी ली। साथ ही उन्होंने इस दौरान नक्काशी की बारीकियों, कार्य की गति के बारे में जानकारी ली। 

अयोध्या से श्री राम जन्मभूमि के ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्रा, सहयोगी गोपाल, लार्सन एन्ड टुब्रो के प्रोजेक्ट मैनेजर विनोद मेहता , टाटा के प्रोजेक्ट इंचार्ज विनोद शुक्ला, निखिल सोमपुरा ने बुधवार को पिंडवाड़ा में सोमपुरा मार्बल्स पिंडवाड़ा, मालवीय क्राफ्ट्स आबूरोड, मातेश्वरी टेम्पेल्स अजारी की सभी कार्यशालाओं को देखकर पत्थर की फोटोग्राफी व सूची,नक्काशी की गुणवत्ता व जानकारी लेकर पत्थर अयोध्या तक भेजने की जानकारी लेकर चर्चा की।

पूरी टीम सुबह से लेकर शाम तक उपस्थित रहकर पिरन जानकारी ली और बाद में वे यहाँ से आगे के लिए प्रस्थान किया। इस दौरान उनके साथ सोमपुरा मार्बल्स के परेश भाई सोमपुरा भी उपस्थित रहे।।  

श्री रामजन्म भूमि के महासचिव चंपत राय ने फर्स्ट भारत से एक्सक्लूसिव बातचीत में कई अहम खुलासे किए. उन्होंने बताया कि किस तरह से तैयारियों को आगे बढ़ाया जा रहा है. चंपत राय ने ये भी बताया कि मंदिर कब तक तैयार होगा. चंपत राय के मुताबिक दिसंबर 2023 तक मंदिर के गर्भगृह में भगवान अपने आसन पर आ जाएंगे.

उन्होंने कहा कि मंदिर तो आज भी सब के लिए खुला है. एक अस्थायी लकड़ी के मंदिर में भगवान विराजमान हैं. इसके पहले वो तंबुओं में थे. दर्शन खुले हैं, मंदिर खुला है. भगवान दिसंबर 2023 तक अपने स्थायी घर में आ जाएंगे.

तीनों कार्यशाला में तेज गति से चल रहा मंदिर निर्माण कार्य, 20 अप्रैल को पिंडवाड़ा से गई शिलाएं की थी स्थापित।

अयोध्या में भगवान राम की जन्मभूमि पर बनने वाले मंदिर कार्य पिंडवाड़ा में तेज गति से चल रहा है। यहाँ पर तीन कार्यशालाओं में मंदिर निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है जो यहाँ से अयोध्या जाएंगे। इसी को लेकर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ के महासचिव चम्पत राय व टीम पिंडवाड़ा दौरे पर थी।

इससे पूर्व 2021 में 20 अप्रेल को पिंडवाड़ा 9 शिलाएं अयोध्या भेजी गई थी, जिनको श्री राम मंदिर के गर्भगृह के 40 फ़ीट नीचे नीव पूजा करके 17 मई को रखी गयी थी। पूरा मंदिर निर्माण कार्य बंशीपाल पत्थरो से हो रहा है।

Must Read: नवरात्र के छठवें दिन मां कात्यायनी की पूजा, बनेंगे ये सारे काम

पढें अध्यात्म खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :