ये सबकुछ होने वाला है खास: श्रीराम जी की नगरी अयोध्या में इस बार ‘दीपोत्सव’ तोड़ेगा पिछले सभी रिकॉर्ड

श्रीराम जी की नगरी अयोध्या में इस बार ‘दीपोत्सव’ पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ने वाला है। इसके भव्य आयोजन के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार तैयारियों में अभी से जुट गई है।

श्रीराम जी की नगरी अयोध्या में इस बार ‘दीपोत्सव’ तोड़ेगा पिछले सभी रिकॉर्ड

अयोध्या | श्रीराम जी की नगरी अयोध्या में इस बार ‘दीपोत्सव’ पिछले सभी रिकॉर्ड तोड़ने वाला है। इसके भव्य आयोजन के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार तैयारियों में अभी से जुट गई है। जानकारी के अनुसार, इस बार दीपोत्सव के मौके पर अयोध्या में 14 लाख दीपक जलाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसके बाद श्रीराम की नगरी दीपकों की रोशनी से नहा उठेकगी। दीपोत्सव मनाकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या को विश्व के मानचित्र पर स्थापित कर दिया है। ऐसे में योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले दीपोत्सव को पहले से भी ज्यादा भव्यता देने की तैयारी चल रही है।

दीपोत्सव को लेकर यूपी सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। जिसके अन्तर्गत राम की पैड़ी पर साफ-सफाई का काम शुरू हो गया है। इस बार राम की पैड़ी पर विस्तारित किए गए नए घाटों पर भी दीपक जलाए जाएंगे। बता दें कि, पिछले 5 सालों में दीपोत्सव को लेकर अवध विश्वविद्यालय ने 4 विश्व रिकार्ड स्थापित किए हैं। अवध विश्विद्यालय हर बार अपना ही रिकॉर्ड तोड़ते हुए नया कीर्तिमान बना रहा है। 

ये भी पढ़ें:- Bisalpur Dam Updates: बीसलपुर बांध में पानी की भारी आवक के बाद अब चार गेट खोले गए, बनास नदी में बढ़ रहा पानी

विदेशी रामलीला होगा का मंचन
इस बार दीपोत्सव के दौरान होने वाले कार्यक्रमों में लेजर शो, वाटर शो, आतिशबाजी और विदेशी रामलीला का मंचन श्रद्धालुओं के आकर्षण का केंद्र होगा। ऐसे में इस बार दीपोत्सव के मौके अयोध्या में भारी संख्या में पर्यटकों के आने की उम्मीद पर्यटन विभाग को है। 

ये भी पढ़ें:- पीए सुधीर के संपर्क में था: सोनाली फोगाट को लेकर खुली नई परत, पुलिस ने गिरफ्तार किया ड्रग पेडलर

हर चौराहों पर एलईडी टीवी पर कार्यक्रम का होगा प्रसारण
इस बार अयोध्या के हर चौराहे को सजाया जाएगा। सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे। चौराहों पर एलईडी टीवी पर कार्यक्रम का प्रसारण होगा। इस बार अयोध्या का उत्साह अयोध्यावासियों सहित, संत-महंत और पूरे देश दुनिया के लोग देखना चाहते हैं। शिल्प हॉट लगाने पर भी विचार-विमर्श किया जा रहा है। 

Must Read: बुद्ध पूर्णिमा आज, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

पढें अध्यात्म खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :