गन्दा है पर धंधा है : शराब तस्करी के साथ साथ जुआ खेलने का अड्डा बन रहा अर्बुदांचल

लगता हैं सिरोही जिला शराब तस्करी के साथ अब जुआरियों की भी पहली पसंद बन चुका हैं। कभी गुजरात बॉर्डर की किसी होटल में तो कभी आबूरोड़ शहर की किसी होटल में पुलिस द्वारा इन जुआरियों पर कार्रवाई करने की खबरें मिलती हैं।

शराब तस्करी के साथ साथ जुआ खेलने का अड्डा बन रहा अर्बुदांचल
माउंट आबू पुलिस की गिरफ्त में जुआरी
  • पर्यटन के साथ साथ जुआरियों की पनाहगाह बनता माउंट आबू

विक्रम सिंह करणोत/गणपत सिंह मांडोली। 

सिरोही। लगता हैं सिरोही जिला शराब तस्करी के साथ अब जुआरियों की भी पहली पसंद बन चुका हैं। कभी गुजरात बॉर्डर की किसी होटल में तो कभी आबूरोड़ शहर की किसी होटल में पुलिस द्वारा इन जुआरियों पर कार्रवाई करने की खबरें मिलती हैं। इसी कड़ी में आज पर्यटन नगरी माउंट आबू स्थित एक आलीशान होटल में जुआ खेलते 15 गुजराती जुआरियों को पकड़कर माउंट आबू पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया हैं। जिला पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्रसिंह यादव ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर आज माउंट आबू थाना पुलिस ने इंस्पेक्टर सरोज बैरवा के नेतृत्व वन विभाग ऑफिस के पास स्थित होटल सनसेट इन में दबिश दी गई, जहाँ होटल के ग्राउंड फ्लोर पर स्थित कमर नम्बर 45 में करीब 15 जुआरी ताश के पत्तो के साथ जुआ खेलते पाए गए। पुलिस ने तुरन्त ही इन सभी जुआरियों को हिरासत में लेकर मौके से ताश की गड्डी सहित दांव पर लगे 58,520 रुपये भी जब्त किए। गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी गुजरात राज्य के महेसाणा जिले के निवासी हैं। 

◆ जुआ खेलने का अड्डा बना माउंट आबू और आबूरोड़

सिरोही जिले के माउंट आबू और आबूरोड़ सहित पूरा अर्बुदांचल आजकल जुआरियों का अड्डा बना हुआ हैं। गुजरात राज्य की सीमा से सटा इलाका होने के कारण गुजरात से बहुतायत में जुआरी यहां जुआ खेलने के लिए आते हैं। जिन्हें माउंट आबू और आबूरोड़ के आसपास की होटलों में आसानी से जुआ खेलने की सुविधा मिल जाती हैं। यहां कई होटलों में इन जुआरियों को पूरे प्रोटेक्शन के साथ जुआ खेलने की सुविधा प्रदान की जा रही हैं। स्थानीय लोगो की माने तो जुआ के इस काले कारोबार में ख़ाकीधारियो की भी मिलीभगत हैं। हालांकि पुलिस कभी कभार औपचारिकता करने के लिए इन जुआरियों पर कार्रवाई भी करती हैं। पर जिन होटलों से इन जुआरियों को पकड़ा जाता हैं, या जो इन जुआरियों को जुआ खेलने के स्थान उपलब्ध करवाते हैं उन पर कोई खास कार्रवाई नही होने के चलते जुआ कारोबार यहां फलता फूलता जा रहा हैं।

◆ माउंट आबू में पनप रहा जिस्मफरोशी का गंदा खेल भी

प्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए विश्व विख्यात हैं। जहाँ प्रतिदिन हज़ारो की तादाद में पर्यटक यहां कुदरत का नज़ारा देखने के लिए आते हैं। अत्यधिक पर्यटको के आने से कुछ लोगो ने यहां गंदे धंधे भी शुरू कर दिए हैं। आजकल इंटरनेट पर माउंट आबू में गर्ल्स एस्कोर्टिंग के नाम से कई वेबसाइट मौजूद हैं। जहाँ ऑनलाइन बुकिंग के जरिए लड़कियां सप्लाई करने का काला कारोबार भी खूब चल रहा हैं। यदि आप इंटरनेट पर माउंट आबू गर्ल्स एस्कोर्टिंग के नाम से सर्च करेंगे तो आपको एक दो नही बल्कि कई ऐसी साइट मिल जाएगी। और इन  वेबसाइट्स पर दिए गए व्हाट्सएप नम्बर से सीधा संपर्क करके इन लड़कियों की तस्वीरें प्राप्त कर अपनी पसंद चुनने का भी विकल्प आपको मिल जाता हैं। पर इतना सबकुछ होने के बावजूद पुलिस इस पर कोई कार्रवाई नही कर रही हैं।

◆ इन जुआरियों को पकड़ा 

माउंट आबू पुलिस की गिरफ्त में आये जुआरियों में श्याम पटेल पुत्र जयंती पटेल, केतन कुमार पटेल पुत्र अम्बालाल पटेल, मुकन कुमार पुत्र रमणलाल पटेल, जिग्नेश पुत्र अम्बालाल पटेल, जिग्नेश पुत्र लीला पटेल, राकेश कुमार पुत्र मफतलाल पटेल, बड़देव पटेल पुत्र गोड़ालाल पटेल, मनन  कुमार पुत्र अरविन्द पटेल, महेश कुमार पुत्र सीताराम पटेल, रमेश कुमार पुत्र गोरधन पटेल, धर्मेश पटेल पुत्र दशरथ पटेल, सभी निवासी कल्याणपुरा, पुलिस थाना उंझा, जिला मेहसाणा, एवं जीतेन्द्र पुत्र मन्नू पटेल, सुरेश पटेल पुत्र कांतिलाल पटेल, दोनों निवासी अंबिका सोसाइटी, एवं गणपत कुमार पटेल पुत्र राजेंद्र पटेल निवासी शिव सोसाइटी, उंझा, हितेश पटेल पुत्र नटवर पटेल, निवासी उंकर बंगलो , वीस नगर रोड उंझा को गिरफ्तार किया गया।      

Must Read: पाकिस्तान का दुस्साहस, अंधेरी रात में घुसपैठ की कोशिश, BSF ने की विफल

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :