Tokyo Paralympics गेम्स एक ओर गोल्ड: राजस्थान की अवनि के बाद अब हरियाणा के सुमित ने भारत को दिलाया गोल्ड मेडल, जेवलिन थ्रो में बनाया रिकॉर्ड

टोक्यो पैरालिंपिक गेम्स में भारतीय खिलाड़ी गजब का प्रदर्शन कर रहे है। अब मानो पदक जीतने की प्रतिस्पर्दा सी हो रही है। आज सोमवार सुबह जहां राजस्थान की अवनि लेखरा ने शूटिंग में भारत को गोल्ड मेडल दिलाकर खुशी बढ़ा दी, वहीं दोपहर होते होत हरियाणा के जेवलिन थ्रोअर सुमित अंतिल ने भी सोने पर भाला दे मारा।

राजस्थान की अवनि के बाद अब हरियाणा के सुमित ने भारत को दिलाया गोल्ड मेडल, जेवलिन थ्रो में बनाया रिकॉर्ड

नई दिल्ली।
टोक्यो पैरालिंपिक गेम्स(Tokyo Paralympic Games) में भारतीय खिलाड़ी गजब का प्रदर्शन कर रहे है। अब मानो पदक जीतने की प्रतिस्पर्दा सी हो रही है। आज सोमवार सुबह जहां राजस्थान की अवनि लेखरा ने शूटिंग में भारत को गोल्ड मेडल दिलाकर खुशी बढ़ा दी, वहीं दोपहर होते होत हरियाणा के जेवलिन थ्रोअर सुमित अंतिल(Javelin Thrower Sumit Antil) ने भी सोने पर भाला दे मारा। सुमित ने भी भारत को गोल्ड मेडल दिलाया। सुमित ने F64 कैटेगरी में वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ अपना पदक जीता। सुमित ने फाइनल में 68.55 मीटर का थ्रो किया। 
हरियाणा के सोनीपत के सुमित अंतिल का सफर कठिनाइयों भरा रहा है। 6 साल पहले हुए सड़क हादसे में एक पैर गंवाने के बाद भी सुमित ने जिंदगी से कभी हार नहीं मानी और बुलंद हौसले के चलते हर परिस्थिति का डटकर मुकाबला किया। पैरालिंपिक 2020 में जेवलिन थ्रो टूर्नामेंट में भारत का यह तीसरा मेडल है। यह भारत का अब तक का सबसे सफल पैरालिंपिक बन गया है। इससे पहले 2016 रियो ओलिंपिक और 1984 ओलिंपिक में भारत ने 4-4 मेडल जीते थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी एथलीट्स को बधाई दी है।
सुमित ने तोड़ा स्वयं का रिकॉर्ड
सुमित अंतिल ने पैरालिंपिक में अपने ही वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ते हुए गोल्ड मेडल(Gold Medal) जीता है। सुमित पहले प्रयास में 66.95 मीटर का थ्रो किया, जो वर्ल्ड रिकॉर्ड बना। इसके बाद दूसरे थ्रो में उन्होंने 68.08 मीटर दूर भाला फेंका। सुमित ने अपने प्रदर्शन में और सुधार किया और 5वें प्रयास में 68.55 मीटर का थ्रो किया, जो कि नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बन गया। उनका तीसरा और चौथा थ्रो 65.27 मीटर और 66.71 मीटर का रहा था। जबकि छठा थ्रो फाउल रहा।
आज का दिन खास, क्योंकि जीते 4 पदक 
भारत के लिए सोमवार का दिन खास बन गया। टोक्यो पैरा​लिंपिक में भारत को एक, दो या फिर तीन नहीं 4 पदक मिले है। इसमें सुमित से पहले अवनि लेखरा(Avani lekhra) ने शूटिंग में गोल्ड मेडल जीता। 19 साल की इस शूटर ने महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल के क्लास एसएच1 में पहला स्थान हासिल किया। वहीं देवेंद्र झाझरिया(Devendra Jhajharia) ने जेवलिन और योगेश कथुनिया ने डिस्कस थ्रो में सिल्वर मेडल दिलाया। इसके अलावा सुंदर सिंह गुर्जर ने जेवलिन थ्रो में ब्रॉन्ज मेडल जीता। वहीं रविवार को डिस्कस थ्रो में ब्रॉन्ज जीतने वाले विनोद कुमार से सोमवार को मेडल वापस ले लिया गया। रविवार को रिजल्ट को होल्ड पर रखा गया था। कुछ देशों ने उनकी क्लासिफिकेशन कैटेगरी को लेकर आपत्ति जताई थी। 

Must Read: ऑपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन के पड़ोसी देशों से विशेष उड़ानों के माध्यम से 3,000 भारतीयों की वापसी

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :