अब जितिन भी भाजपा में : राहुल—प्रियंका के बेहद करीबी माने जाने वाले कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने थामा भाजपा का दामन

उत्तरप्रदेश की राजनीति में गहरी पैठ रखने वाले और राहुल प्रियंका के बेहद करीबी माने जाने वाले नेता जितिन प्रसाद  ने भी ज्योतिरादित्य सिंधिया की स्टाइल में कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया हैं।

राहुल—प्रियंका के बेहद करीबी माने जाने वाले कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने थामा भाजपा का दामन

नई दिल्ली।
उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh ) विधानसभा चुनाव से पूर्व कांग्रेस पार्टी को एक बड़ा झटका लगा। इस बार कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता ने पार्टी को अलविदा कहते हुए भाजपा का दामन थाम लिया। उत्तरप्रदेश की राजनीति में गहरी पैठ रखने वाले और राहुल प्रियंका के बेहद करीबी माने जाने वाले नेता जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) ने भी ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की स्टाइल में कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया हैं। उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनावों से पहले ये कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी की कोर कमेटी को बड़ा झटका माना जा रहा हैं। आप को बता दें कि बड़ा झटका इसलिए कि आने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में इन्ही जितिन प्रसाद को कांग्रेस बड़ी जिम्मेदारी देने की तैयारी में थी। लेकिन इससे पहले ही आज केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने इन्हें भाजपा में शामिल करवा दिया।
राजनीति में बड़ा सियासी उलटफेर
कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शामिल जितिन प्रसाद का कांग्रेस का दामन छोड़ना पार्टी के लिए बेहद चिंताजनक माना जा रहा हैं। राजनीतिक के जानकार इसे बड़ा सियासी उलटफेर मान रहे हैं। उत्तरप्रदेश की राजनीति में जितिन प्रसाद का अपना वजूद हैं। जितिन प्रसाद उत्तरप्रदेश के बड़े ब्राह्मण नेताओं में शुमार हैं। इसके कारण कांग्रेस को हमेशा फायदा मिला था। पर जितिन प्रसाद पिछले कई दिनों से हाईकमान से नाराज़ चल रहे थे। और इन्होंने अपनी नाराज़गी कई बार दर्ज भी करवाई लेकिन कांग्रेस आलाकमान ने इनकी नाराज़गी को हमेशा नज़र अंदाज़ किया, इसके परिणाम आज सामने भी आ गए।
आज कांग्रेसी नेता का भाजपा में शामिल होने के लगाए जा रहे थे कयास
आज सुबह से ही इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस के एक बड़े नेता आज भाजपा में शामिल होंगे। सोशल मीडिया पर इसको लेकर अलग अलग नाम सामने आ रहे थे। सबसे ज्यादा कयास सचिन पायलट के नाम पर लगाए जा रहे थे। क्योंकि पिछले लंबे समय से सचिन पायलट अपनी ही पार्टी की राज्य सरकार से नाराज़ चल रहे हैं। इसके कारण हर किसी के मन में सचिन पायलट का ही नाम चल रहा था। पर जैसे ही जितिन प्रसाद के भाजपा जॉइन करने की खबर आई इन कयासों पर विराम लग गया।
जितिन का भाजपा में जाने का दुख: पायलट
जितिन प्रसाद सचिन पायलट के दोस्त हैं, आज प्रसाद के बीजेपी में शामिल होने पर सचिन पायलट ने दुख जताया है। पायलट ने एक अंग्रेजी चैनल से कहा कि जतिन प्रसाद का कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जाने पर दुख हुआ।  कांग्रेस में सचिन पायलट, ज्योतिरादित्य सिंधिया और जितिन प्रसाद की तिकड़ी मशहूर थी, जिसमें दो भाजपा में जा चुके हैं। अब इस तिकड़ी में केवल सचिन पायलट बचे हैं।