अफगान सेना ने मारे 300 आतंकी: अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने महज 24 घंटों में मारे 300 से अधिक तालिबानी आतंकी,125 घायल

अफगानिस्तान के रक्षा मंत्री के आवास के नजदीक हमले के बाद सुरक्षा एंजेसी हरकत में आ गई। अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने महज 24 घंटों में 300 से अधिक तालिबानी आंतकियों को मार गिराया। इतना ही नहीं, करीबन 125 आतंकी घायल है।

अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने महज 24 घंटों में मारे 300 से अधिक तालिबानी आतंकी,125 घायल

नई दिल्ली।
अफगानिस्तान (Afghanistan) के रक्षा मंत्री के आवास के नजदीक हमले के बाद सुरक्षा एंजेसी हरकत में आ गई। अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने महज 24 घंटों में 300 से अधिक तालिबानी आंतकियों (300 terrorists killed) को मार गिराया। इतना ही नहीं, करीबन 125 आतंकी घायल है। रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defense) ने बताया कि अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने पिछले 24 घंटे में 303 तालिबान आतंकियों को मार गिराया,  अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा बलों (Afghan National Security Forces) ने नंगरहार, लगमन, गजनी, पक्तिका, कंधार, जाबुल, हेरात, जोजजान, समांगन, फरयाब, सर-ए पोल, हेलमंद, निमरुज, कुंदुज, बगलान और कपिसा प्रांतों में अभियान चलाया। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक कंधार के बाहरी इलाके में अफगान वायु सेना (AAF) की ओर से किए गए हवाई हमलों में 16 तालिबानी आतंकी मारे गए और 10 घायल हुए। वायु सेना ने गुरुवार को बल्ख प्रांत के देहदादी जिले में भी कार्रवाई की। सुरक्षा बलों ने हमलों में दहशतगर्दों के कई ठिकाने भी ध्वस्त कर दिए गए। मंत्रालय ने दो हवाई हमलों (air strikes) के वीडियो भी शेयर किए। मंत्रालय के मुताबिक बगलान प्रांत में सुरक्षा बलों ने तालिबान के 23 आतंकियों को मार गिराया और 4 घायल हुए। उनके हथियार और गोला-बारूद नष्ट कर दिए गए।

बुधवार को जाबुल के बाहरी इलाके में AAF की मदद से ANSF के ऑपरेशन में 60 तालिबानी आतंकी मारे गए और 11 घायल हो गए। आपको बता दें कि अफगानिस्तान (Afghanistan)में हाल के दिनों में हिंसा में बढ़ोतरी हुई है। कुछ ही हफ्तों में विदेशी सेनाएं यहां से पूरी तरह से चली जाएंगी। इस दौरान तालिबान ने अफगान बलों और नागरिकों के खिलाफ हमले तेज कर दिए हैं। उसने देश के पूर्वोत्तर प्रांत तखर समेत अफगानिस्तान के कई जिलों पर कब्जा कर लिया है। लॉन्ग वॉर जर्नल के अनुसार, अफगानिस्तान के 223 जिलों पर तालिबान का नियंत्रण है। वहीं, 34 प्रांत की राजधानियों में से 17 पर तालिबान से सीधे तौर पर खतरा है। पूरे अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा का होने का खतरा मंडरा रहा है। हालांकि अफगान सेनाएं तालिबान से लोहा ले रही हैं। वहीं अमेरिका (America) और दूसरे देशों ने भी अफगानिस्तान को मदद देने की बात कही है। तालिबान(Taliban) ने बुधवार को धमकी दी थी कि अफगान सरकार के मंत्रियों पर और हमले किए जाएंगे। दरअसल, मंगलवार रात उसने काबुल में अफगानी रक्षा मंत्री बिस्मिल्लाह मोहम्मदी पर बम और बंदूक से हमला किया था, लेकिन वह इसमें बच निकले। हमले में 8 लोगों की जान गई और कई लोग जख्मी हुए।

Must Read: पाकिस्तान में मानसून की विनाशकारी बारिश में मरने वालों की संख्या बढ़कर 903 हुई

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :