Sirohi @ नगर पालिका चेयरमैन ट्रेप: सिरोही में नगर पालिका जावाल में एसीबी की कार्रवाई, 18500 रुपए रिश्वत लेते चेयरमैन रंगहाथ गिफ्तार

जिले के जावाल नगर पालिका के चेयरमैन एक प्लॉट पर निर्माण कार्य को लेकर एनओसी जारी करने की एवज में रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार हो गए। जालोर एसीबी टीम ने आरोपी चेयरमैन को रिश्वत की राशि के साथ दबोच लिया। एसीबी ने विक्रम राणा की पेंट की जेब से रिश्वत की राशि 18500 रुपए बरामद कर ली

सिरोही में नगर पालिका जावाल में एसीबी की कार्रवाई, 18500 रुपए रिश्वत लेते चेयरमैन रंगहाथ गिफ्तार

सिरोही।
जिले के जावाल नगर पालिका(Jawal Municipality) के चेयरमैन एक प्लॉट पर निर्माण कार्य को लेकर NOC जारी करने की एवज में रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार हो गए। जालोर एसीबी टीम(Jalore ACB Team) ने आरोपी चेयरमैन को रिश्वत की राशि के साथ दबोच लिया। एसीबी जालोर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ महावीर सिंह राणावत(Dr. Mahavir Singh Ranawat) ने बताया कि परिवादी जावाल तहसील निवासी मगनाराम सुथार(Magnaram Suthar) ने छह माह पूर्व स्वयं के प्लॉट पर निर्माण कार्य शुरू करने के लिए प्रशासन की ओर से एनओसी जारी कराने के लिए आरोपी जावाल चेयरमैन कम सरपंच विक्रम राणा(Vikram Rana) से संपर्क किया था। आरोप है कि विक्रम राणा ने मगनाराम को एनओसी देने के एवज में 20 हजार रुपए की मांग की। रिश्वत की राशि नहीं देने पर आरोपी ने छह माह तक परिवादी को चक्कर कटवाएं। इस पर परिवादी ने ग्राम पंचायत जावाल के उप सरपंच नारायण लाल माली से इस संबंध में शिकायत की। नारायण लाल ने जालोर एसीबी में परिवादी की शिकायत दर्ज कराई। शिकायत का सत्यापन होने के बाद टीम ने ट्रेप की कार्रवाई को अंजाम दिया। राणावत ने बताया कि सोमवार को परिवादी द्वारा आरोपी चेयरमैन से फिर से संपर्क किया तो विक्रम राणा ने 19000 रुपए की मांग की। इस पर टीम ने स्पेशल कलर लगाए गए रुपए परिवादी को दिए। इसके बाद मंगलवार को सुबह परिवादी ने रिश्वत की राशि विक्रम राणा को दी तो उसमें से विक्रम राणा ने 500 रुपए वापस लौटा दिए। एसीबी ने विक्रम राणा की पेंट की जेब से रिश्वत की राशि 18500 रुपए बरामद कर ली और कार्रवाई के लिए​ विक्रम राणा को हिरासत में ले लिया। 

Must Read: कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में आज शाम से शुरू हुआ वीकेंड लॉकडाउन

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :