सिरोही तनाव में आकर युवक ने लगाई फांसी: सिरोही में मानसिक तौर पर परेशान युवक ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में आत्महत्या का कारण बताया तनाव

कोतवाली थाना इलाके में शिवरात्रि को एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। युवक के पास एक सुसाइड नोट मिला है।  सुसाइड नोट में युवक ने तनाव के चलते आत्महत्या करने का कारण बताया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने युवक को मृत घोषित कर दिया। 

सिरोही में मानसिक तौर पर परेशान युवक ने लगाई फांसी, सुसाइड नोट में आत्महत्या का कारण बताया तनाव

सिरोही।
कोतवाली थाना इलाके में शिवरात्रि को एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। युवक के पास एक सुसाइड नोट मिला है। 
सुसाइड नोट में युवक ने तनाव के चलते आत्महत्या करने का कारण बताया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने युवक को मृत घोषित कर दिया। 
कोतवाल राजेंद्र सिंह राजपुरोहित के मुताबिक सुबह करीबन साढ़े चार बजे सूचना मिली कि शहर के छिपा ओली में एक युवक ने आत्महत्या कर ली। 
इस पर रात्रि गश्त कर रही हेड कांस्टेबल टीम के साथ मौके पर पहुंची। इसके युवक को फंदे से उतारकर भेजा गया। पुलिस के मुताबिक छिपा मोहल्ला निवासी 19 वर्षीय दिलीप कुमार पुत्र जगदीश कुमार ने घर के कमरे में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। 
जगदीश कुमार ने रिपोर्ट दी कि शिवरात्रि को परिवार अंबेश्वर दर्शन के लिए गया था। मंदिर से वापस लौटने के बाद आज सुबह करीबन साढ़े चार बजे वापस लौटे और दरवाजा खोलने के लिए दिलीप को आवाज लगाई। 
इस पर कई देर तक दरवाजा नहीं खोलने पर पडोसी केघर से देखा तो दिलीप कुमार फांसी पर लटका हुआ था। परिजनों की रिपोर्ट पर मर्ग दर्ज किया गया।


सुसाइड नोट: तनाव और समय बर्बादी को बताया मौत का कारण 
पुलिस के मुताबिक मृतक के पास से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया है। सुसाइड नोट में दिलीप ने तनाव के चलते आत्म हत्या का कदम उठाना बताया। दिलीप ने दो पेज के सुसाइड नोट में बताया कि मैं पिछले एक साल से तनाव में था। मैंने अपना काफी समय बर्बाद कर दिया। 
दिलीप अकेला और गुमसुम सा रह रहा था। वह अपने तनाव को लेकर किसी से भी चर्चा तक नहीं कर पा रहा था। दिलीप ने छोटे भाई को समय के सद् उपयोग की सलाह दी। 
दिलीप ने सुसाइड नोट में ​लिखा है कि मैं अपना करियर खराब नहीं होने देना चाहता। लेकिन यहां सबसे बड़ा सवाल यह है कि आत्म हत्या कर के क्या करियर बना लिया। ऐसी परिस्थिति में एक बार अपने माता—पिता के लिए सोचना चाहिए था! 

Must Read: राजस्थान में क्राइम पर सख्त गहलोत सरकार, 32 जिलों में खोले जाएंगे साइबर थाने 

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :