Rajasthan शिक्षा बोर्ड के निर्देश: Rajasthan में 17 जनवरी से 5 फरवरी तक स्कूल स्तर पर ही होगी बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षाएं

प्रदेश में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है, ऐसे में राजस्थान में बोर्ड परीक्षाओं को लेकर भी सवाल किए जाने लगे। ऐसे में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से 12वीं कक्षा की प्रायोगिक परीक्षाओं को कराने का ऐलान कर दिया।

Rajasthan में 17 जनवरी से 5 फरवरी तक स्कूल स्तर पर ही होगी बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षाएं

जयपुर।
प्रदेश में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है, ऐसे में राजस्थान में बोर्ड परीक्षाओं को लेकर भी सवाल किए जाने लगे। ऐसे में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से 12वीं कक्षा की प्रायोगिक परीक्षाओं को कराने का ऐलान कर दिया।
 12वीं की प्रायोगिक परीक्षा अब 17 जनवरी से शुरू होगी, जो 5 फरवरी तक चलेगी। हालांकि कोरोना के चलते शिक्षा बोर्ड ने प्रायोगिक परीक्षाएं स्कूल स्तर पर ही आयोजित करने के निर्देश जारी किए है।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के सचिव के मुताबिक प्रायोगिक परीक्षाओं के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। प्रदेश की स्कूलों को प्रायोगिक परीक्षाएं 17 जनवरी से 5 फरवरी तक पूरी करवानी होगी। 
इस दौरान स्कूल जहां विषय अध्यापक का पद रिक्त हैं उन स्कूलों को पास के स्कूल के विषय अध्यापक की मदद से प्रायोगिक परीक्षा करानी होगी। इस में किसी भी बच्चे को प्रायोगिक परीक्षा से वंचित नहीं किया जाएगा।
 इसके अलावा अगर किसी विद्यार्थी ने ऐसे विषय का चयन कर लिया है कि जिसका संचालन स्कूल में नहीं होता है। तो ऐसी स्थिति में विद्यार्थी की प्रायोगिक परीक्षा जिला शिक्षा अधिकारी की अनुमति से पास के किसी दूसरे स्कूल में करवानी होगी। 
इस दौरान प्रायोगिक परीक्षाएं स्कूल स्तर पर विषयवार अध्यापन करवा रहे शिक्षक ही परीक्षा लेंगे। बाहर से वीक्षक नहीं बुलवाया जाएगा। स्कूलों में प्रायोगिक परीक्षा की सामग्री जिले के नोडल केंद्रों पर भेजी जाएंगी, जहां से स्कूल प्राप्त कर सकेंगे। 
इसमेें उत्तर पुस्तिका, ग्राफ, ड्रॉइंग शीट जैसी सामग्री शामिल होगी। बोर्ड के मुताबिक यदि कोई विद्या​र्थी प्रायोगिक परीक्षा के लिए बनाए गए बैच से निर्धारित तिथि को उपस्थित नहीं हो पाता है तो स्कूल उसकी परीक्षा 2 फरवरी तक ले सकता है, लेकिन विद्यार्थी को प्रायोगिक परीक्षा से वंचित नहीं किया जा सकता। 

Must Read: जालोर के रानीवाड़ा से पूर्व कांग्रेसी विधायक पर माउंट आबू में अवैध निर्माण और अवैध अतिक्रमण का आरोप, सीएम तक कर दी शिकायत बावजूद सुनवाई नहीं

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :