राजस्थान CS ने कलेक्टर्स को दिए निर्देश: राजस्थान की मुख्य सचिव उषा शर्मा ने सरकार की 26 फ्लेगशिप योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर सभी जिला कलेक्टर्स को दिए निर्देश

राजस्थान सरकार की फ्लेगशिप योजना के क्रियान्वयन के लिए मुख्य सचिव उषा शर्मा ने प्रदेश के जिला कलक्टर्स को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। सीएस ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि फ्लेगशिप और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी जनकल्याणकारी योजनाओंं का लाभ आमजन को ज्यादा से ज्यादा मिल सकें।

राजस्थान की मुख्य सचिव उषा शर्मा ने सरकार की 26 फ्लेगशिप योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर सभी जिला कलेक्टर्स को दिए निर्देश

जयपुर।
राजस्थान सरकार की फ्लेगशिप योजना के क्रियान्वयन के लिए मुख्य सचिव उषा शर्मा ने प्रदेश के जिला कलक्टर्स को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
सीएस ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि फ्लेगशिप और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी जनकल्याणकारी योजनाओंं का लाभ आमजन को ज्यादा से ज्यादा मिल सकें। सभी जिलों में फ्लेगशिप योजनाओं से ज्यादा लोगों को जोड़ने की पहल करें और इसके लिए सभी विभाग टीम भावना से कार्य करें।
सीएस शनिवार को शासन सचिवालय में राज्य फ्लेगशिप कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रही थी।
बैठक में राज्य सरकार द्वारा घोषित 26 फ्लेगशिप योजनाओं के क्रियान्वयन, उनके लक्ष्य तय करने पर विचार विमर्श के साथ ही योजना विभाग द्वारा फ्लेगशिप योजनाओं का प्रदेश के जिलों में किए गए प्रदर्शन की रेंकिंग को भी प्रजेंटेशन के माध्यम से वीसी में प्रदर्शित किया गया।
सीएस शर्मा ने योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए जिला कलक्टर्स की सराहना करते हुए कहा कि लगभग सभी जिलों द्वारा अच्छा प्रदर्शन किया जा रहा है। 
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत फ्लेगशिप योजनाओं को लेकर अत्यधिक संवेदनशील है और उनकी की मंशा है कि येाजनाओं का लाभ आम लोगों तक त्वरित गति से पहुंचाया जाएं। 
मुख्य सचिव ने सभी विभागाध्यक्ष को अपने स्तर पर मॉनिटरिंग करने के निर्देश प्रदान करते हुए कहा कि सभी फ्लेगशिप योजनाओं का प्रभावी तथा सक्रिय रूप में निष्पादन किया जाएं।
उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं को सशक्त, जागरूक, कुशल बनाने के उद्धेश्य से प्रदेश में मुख्यमंत्री युवा संबल योजना लागू की गई है। 
उन्होंने कलक्टर्स को निर्देशित किया कि युवाओं को इस योजना से उत्पादक संबल प्रदान करें। मुख्य सचिव ने शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में सभी जिलों द्वारा सौ प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने पर सराहना करते हुए कहा कि इससे आम लोगों को बेहद राहत मिल रही है।
उन्होंने इसे सतत् और बड़े स्तर पर चलाने के निर्देश प्रदान किए। उन्होंने कलक्टर्स को अच्छी रेंकिंग बनाए रखने के लिए विभिन्न कारको पर केन्द्रीत कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री निःशुल्क जांच योजना के बारे में सभी जिला कलक्टर्स को डाटा एंट्री पूरी कराने, प्रचार-प्रसार बढ़ाने और अपनी क्षमता के हिसाब से जांच बढ़ाने के निर्देश प्रदान किए।
सीएस ने निर्देशित किया कि एक रुपए किलो गेहुं फ्लेगशिप योजना के तहत सुनिश्चित करें की कोई भी व्यक्ति इस लाभ से वंचित ना रहे।
इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव, माध्यमिक शिक्षा विभाग पवन कुमार गोयल ने महात्मा गांधी (अंग्रेजी माध्यम) विद्यालय योजना के बारे में बताते हुए कहा कि वर्ष 2019-20 से 562 महात्मा गांधी विद्यालय खुले हैं। इसमें 88 हजार बच्चे अध्ययनरत हैं। योजना के अन्तर्गत कार्यरत विद्यालयों को ही अंग्रजी माध्यम किया जा रहा है। 
शासन सचिव खा़द्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग नवीन जैन ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही फ्लेगशिप योजनाओं की पहली बार जिलावार रेंकिंग तय की गई है। जिसका उद्देश्य जिलेवार योजनाओं की प्रगति देखना एवं सफल कारको को लक्षित कर योजनाओं को सफल बनाना है।
बैठक में शासन सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग आशुतोष पेडणेकर ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में जयपुर, जैसलमेर और कोटा की अच्छी रेंकिंग बताते हुए कहा कि सरकारी अस्पतालों में योजना का क्षेत्र बढ़ाकर ज्यादा से ज्यादा मॉनिटरिंग की जाए।
प्रमुख शासन सचिव, सूचना प्रौद्योगिकी संचार आलोक गुप्ता ने बताया कि जन सूचना पोर्टल-2019 देश का पहला ऎसा नवाचार है जहां 115 विभागों की 260 स्कीमों से संबंधित सूचना एक ही पोर्टल पर अघतन की गई है। 

Must Read: राजस्थान के बूंदी जिले में रामगढ़ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य को टाईगर रिजर्व बनाए जाने की विधानसभा में सैद्धान्तिक स्वीकृति

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :