Tokyo Olympic का गोल्डन बॉय नीरज: जेवलिन में भारत को पदक मिलने के पीछे नीरज चोपड़ा के ट्रेनर का अहम रोल, 1.22 करोड़ रुपए बतौर कोच सेलरी खर्च

भारत ने टोक्यो ओलिंपिक में इस बार 2020 में 1 गोल्ड मेडल जीत कर रिकॉर्ड बनाया। लेकिन आप को यह जानकार हैरानी होगी कि भारत ने इस एक गोल्ड के लिए करीबन 7 करोड़ रुपए खर्च कर दिए। इसमें भी 25 प्रतिशत राशि तो गोल्ड मेडल​ दिलाने वाले कोच को सेलरी के रूप में दे दिए।

जेवलिन में भारत को पदक मिलने के पीछे नीरज चोपड़ा के ट्रेनर का अहम रोल, 1.22 करोड़ रुपए बतौर कोच सेलरी खर्च

नई दिल्ली।
भारत ने टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) में इस बार 2020 में 1 गोल्ड मेडल(Gold Medal) जीत कर रिकॉर्ड बनाया। लेकिन आप को यह जानकार हैरानी होगी कि भारत ने इस एक गोल्ड के लिए करीबन 7 करोड़ रुपए खर्च कर दिए। इसमें भी 25 प्रतिशत राशि तो गोल्ड मेडल​ दिलाने वाले कोच को सेलरी के रूप में दे दिए। आपको बता दें कि नीरज चोपड़ा ने भारत के 121 साल के ओलिंपिक इतिहास में पहली बार ट्रैक एंड फील्ड(Track and Field) में गोल्ड मेडल जीता। उन्होंने फाइनल में 87.58 मीटर का थ्रो करके दुनिया के दिग्गज जैवलिन थ्रोअर्स (Javelin throwers)को हराकर अपना नाम दर्ज कराया। गोल्डन बॉय नीरज ने इस जीत के पीछे विदेशी कोच  डॉ. क्लाउड बार्टोनिट्ज (Dr. Claude Bartonitz)का महत्वपूर्ण योगदान बताया है। खेल मंत्रालय के मुताबिक नीरज पर  7 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। विदेशों में नीरज की ट्रेनिंग और टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए 450 दिनों में 4.85 करोड़ रुपए खर्च हुए। इस दौरान नीरज ने 26 टूर्नामेंट्स में भाग लिया। टोक्यो ओलिंपिक से पहले नीरज चोपड़ा अपनी तैयारियों के तहत यूरोपियन टूर्नामेंट में भाग लेने गए थे।  50 दिनों तक स्वीडन में ट्रेनिंग शिविर में हिस्सा लिया। इस ट्रेनिंग पर साई  की ओर से 19 लाख 22 हजार रुपए खर्च किए गए।


रियो ओलिंपिक के बाद से ही विदेशी कोच की निगरानी में प्रशिक्षण
जेवलिन खिलाड़ी नीरज चोपड़ा(Javelin player Neeraj Chopra) 2016 रियो ओलिंपिक के बाद से ही विदेशी कोचों की निगरानी में प्रशिक्षण ले रहे थे। पहले नीरज 2017 से 2019 के बीच जेवलिन थ्रो के महान खिलाड़ी उवे होने की निगरानी में ट्रेनिंग की थी। इसके बाद  डॉ. क्लाउड बार्टोनिट्ज के मार्गदर्शन में प्रशिक्षण लिया। टोक्यो में भी क्लाउड उनके साथ ही थे। इन विदेशी कोचों की सैलरी(Foreign coach salary) पर 1 करोड़ 22 लाख रुपए सरकार ने खर्च किए है। वहीं उनके जेवलिन पर 4 लाख 35 हजार रुपए खर्च भी सरकार ने किए।

जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप के बाद से चर्चा में नीरज
नीरज चोपड़ा ने साल 2016 में अंडर-20 वर्ल्ड चैंपियनशिप(World championship) में स्वर्ण पदक ​जीता था। नीरज ने इस चैंपियनशिप में 86.48 मीटर थ्रो कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। इसके अलावा वे 2018 में जकार्ता एशियन गेम्स, गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स, 2017 में एशियन चैंपियनशिप, 2016 में साउथ एशियन गेम्स में भी स्वर्ण पदक जीता था।