भारत: पीएजीडी में कोई मतभेद नहीं: फारूक अब्दुल्ला

नेकां की प्रांतीय समिति द्वारा पारित बुधवार के प्रस्ताव के बारे में एक सवाल के जवाब में अब्दुल्ला ने कहा, कई लोग पीएजीडी को समाप्त करना चाहेंगे, लेकिन गठबंधन प्रभावित नहीं होगा।

पीएजीडी में कोई मतभेद नहीं: फारूक अब्दुल्ला
Farooq Abdullah.
श्रीनगर, 25 अगस्त (आईएएनएस)। पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष डॉ. फारूक अब्दुल्ला ने गुरुवार को कहा कि पीपुल्स अलायंस फॉर गुप्कर डिक्लेरेशन (पीएजीडी) के बीच कोई ऐसे मतभेद नहीं है, जो गठबंधन के टूटने का कारण बन सकते हों।

नेकां की प्रांतीय समिति द्वारा पारित बुधवार के प्रस्ताव के बारे में एक सवाल के जवाब में अब्दुल्ला ने कहा, कई लोग पीएजीडी को समाप्त करना चाहेंगे, लेकिन गठबंधन प्रभावित नहीं होगा।

उन्होंने कहा, हमारी एक लोकतांत्रिक पार्टी है और इसके नेता प्रस्ताव पारित कर सकते हैं, लेकिन चुनाव घोषित होने पर जो कुछ भी होता है वह उस समय की स्थिति पर निर्भर करेगा।

अब्दुल्ला ने कहा, लोगों को धैर्य और सहनशीलता दोनों की जरूरत है और जब तक ये दो चीजें नहीं हैं, कोई भी गठबंधन सफल नहीं हो सकता।

नेकां की प्रांतीय समिति सुहैल बुखारी के प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पीपुल्स डेमोकेट्रिक पार्टी (पीडीपी) के प्रवक्ता ने कहा, पीएजीडी की कल्पना सिर्फ एक चुनावी गठबंधन की तुलना में बहुत बड़े कारण के लिए की गई थी। यदि गठबंधन के कुछ घटक किसी भी प्रकार के चुनावी गठबंधन के लिए आरक्षण रखते हैं, तो इससे बड़े लक्ष्य के लिए हमारी एकता प्रभावित नहीं होगी।

पीएजीडी का गठन अनुच्छेद 370 को निरस्त करने और राज्य को केंद्र शासित प्रदेश में डाउनग्रेड करने के बाद किया गया था।

पीएजीडी जम्मू-कश्मीर के लिए अनुच्छेद 370 और राज्य के दर्जे की बहाली की कोशिश कर रही है। लेकिन वहीं कांग्रेस राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग तो कर रही है, पर धारा 370 की बहाली पर चुप्पी साधे हुए है।

--आईएएनएस

पीके/एएनएम

Must Read: लुलु मॉल में नवाज, पुलिस ने चार को लिया हिरासत में, अब...

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :