सीएलजी बैठक में थाने के अपराधी: महिला के साथ छेड़छाड़, मारपीट का आरोपी पुलिस की सीएलजी बैठक में बैठ शांति व्यवस्था पर कर रहा है चर्चा

जसवंतपुरा थाने में होली व शब-ए-बारात पर्व को लेकर 26 मार्च को आयोजित हुई सीएलजी बैठक की। बैठक में प्रशिक्षु पुलिस उप अधीक्षक अनु बिश्नोई व जसवंतपुरा थानाधिकारी मनीष सोनी सीएलजी सदस्यों से त्यौहारों को लेकर चर्चा कर रहे थे

महिला के साथ छेड़छाड़, मारपीट का आरोपी पुलिस की सीएलजी बैठक में बैठ शांति व्यवस्था पर कर रहा है चर्चा

जालोर।
अपराधियों में भय आमजन में विश्वास" के इस स्लोगन से शायद पुलिस ही अनजान हैं, हालात इस कदर खराब हो गए कि राजस्थान पुलिस की कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए आयोजित सीएलजी बैठक में अब आमजनों के साथ अपराधी भी शामिल हो रहे है। या यूं कहा जाएं कि पुलिस थाने के ही अपराधी पुलिस को शांति व्यवस्था बनाने रखने का पाठ पढ़ा रहे है। 


 जी हां, हम बात कर रहे हैं जसवंतपुरा थाने में होली व शब-ए-बारात पर्व को लेकर 26 मार्च को आयोजित हुई सीएलजी बैठक की। बैठक में प्रशिक्षु पुलिस उप अधीक्षक अनु बिश्नोई व जसवंतपुरा थानाधिकारी मनीष सोनी सीएलजी सदस्यों से त्यौहारों को लेकर चर्चा कर रहे थे। लेकिन इस बैठक में आए सीएलजी सदस्यों के साथ अगली पंक्ति में बैठे राणसिंह पुत्र भैरसिंह परमार ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह खड़े कर दिए। राणसिंह परमार के खिलाफ महिला अत्याचार का एक मुकदमा दर्ज हैं। यानी ये व्यक्ति पुलिस की भाषा में एक अपराधी हैं। और एक अपराधी अगर पुलिस की इस बैठक में अगली पंक्ति में बैठकर पुलिस के अधिकारियों को त्यौहारों पर शांति व्यवस्था बनाने को लेकर दिशा निर्देश देता नज़र आ रहा है तो जसवंतपुरा पुलिस के लिए "अपराधियों में विश्वास, आमजन में भय" वाला स्लोगन सही साबित हो रहा है। 

https://firstbharat.in/Police-threatened-the-complainant-who-came-to-register-a-case-in-jalore


आप को बता दें कि अपराधियों के हौंसले जसवंतपुरा पुलिस के बदौलत ही बढ़े है। जसवंतपुरा पुलिस थाने में अपराधियों को बैठाकर आवभगत की जाती है तो परिवादियों को धमकाया जाता है। जानकारी के मुताबिक जसवंतपुरा थाना इलाके के नजदीकी गांव जीतपुरा में जबरसिंह पुत्र नगसिंह के घर में कुछ लोगों ने जबरन घुसकर महिलाओं के साथ मारपीट की तथा लज्जा भंग करने का प्रयास किया। बावजूद इसके जब परिवादी द्वारा पुलिस में रिपोर्ट दी गई तो पुलिस ने परिवादी को ही जेल में डालने की धमकी दे दी। जबर सिंह ने बताया कि शुक्रवार रात राण सिंह, पूरण सिंह, भंवर सिंह सहित दर्जनभर व्यक्ति धारदार हथियार,लाठियों के साथ मेरे मकान पर हमला बोलकर पुरुष और महिला सदस्यों के साथ मारपीट की। आरोपितों ने महिलाओं की लज्जा भंग करने की कोशिश की गई।
इस पर जसवंतपुरा थाने में ही 20 मार्च को भारतीय दंड संहिता की धारा 354,457,323,427,143 की धाराओं में राण सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। 

Must Read: जालोर के सायला थाने में एसीबी की कार्रवाई, एएसआई 50 हजार की रिश्वत लेते गिफ्तार

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :