पोस्ट छोटी, घूस मोटी: ग्रामसेवक से ग्राम विकास अधिकारी क्या बने कि रिश्वत लेने लगे लाखों में

जालोर इकाई के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महावीर सिंह राणावत के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन किया गया। इसके बाद पुलिस निरीक्षक राजेन्द्र सिंह एवं उनकी टीम के साथ ट्रेप कार्य वाही करते हुए पूराराम पुत्र धारूमल निवासी हरजीयाना, तहसील सिवाणा, जिला बाड़मेर हाल ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत सायला, जिला जालोर को ...

ग्रामसेवक से ग्राम विकास अधिकारी क्या बने कि रिश्वत लेने लगे लाखों में
ACB Trap Jalore Gram Vikas Adhikari

— जालोर में एसीबी की बड़ी कार्रवाई, डेढ़ लाख रुपए लेते ग्रामसेवक गिरफ्तार

जालोर | जो पहले ग्रामसेवक हुआ करते थे, उनका नाम सरकार ने अब ग्राम विकास अधिकारी किया है। अधिकारी का तमगा मिलने के बाद काम क्या करते हैं, यह जनता जानती है। परन्तु रिश्वत का आंकड़ा बढ़ चला है। ए.सी.बी. मुख्यालय के निर्देश पर जालोर एसीबी इकाई ने सायला के ग्राम विकास अधिकारी पूराराम को परिवादी से 1 लाख 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों ​गिरफ्तार किया है।

एसीबी के महानिदेशक श्री भगवान लाल सोनी ने बताया कि ए.सी.बी. की जालोर इकाई को परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि भवन निर्माण का विवाद दूर करके एन.ओ.सी. जारी करने की एवज में पूराराम ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत सायला, जिला जालोर द्वारा उसके दलाल विक्रम सिंह राजपूत सरपंच का रिश्तेदार (प्राईवेट व्यक्ति) के माध्यम से 2 लाख 40 हजार रुपए रिश्वत राशि की मांग कर परेशान किया जा रहा है।

इस पर एसीबी की जालोर इकाई के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महावीर सिंह राणावत के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन किया गया। इसके बाद पुलिस निरीक्षक राजेन्द्र सिंह एवं उनकी टीम के साथ ट्रेप कार्य वाही करते हुए पूराराम पुत्र धारूमल निवासी हरजीयाना, तहसील सिवाणा, जिला बाड़मेर हाल ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत सायला, जिला जालोर को परिवादी से डेढ़ की रिश्वत राशि लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है।

आरोपी दलाल विक्रम सिंह राजपूत पुत्र लालसिंह निवासी सायला, जालोर (प्राईवेट व्यक्ति) ए.सी.बी. कार्यवाही की भनक लगने पर मौके से फरार हो गया। उसकी तलाश जारी है। ट्रैप के दौरान ए.सी.बी. मुख्यालय स्थित तकनीकी शाखा के प्रभारी उप अधीक्षक पुलिस राजेश दुरेजा एवं उनकी टीम का विशेष सहयोग रहा।

भारतीय अमरूद के निर्यात में जोरदार उछाल, वर्ष 2013 से लेकर अब तक 260 फीसदी की वृद्धि दर्ज

एसीबी के अतिरिक्त महानिदेशक श्री दिनेश एम.एन. के निर्देशन में  आरोपियों से पूछताछ जारी है। एसीबी द्वारा मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जाएगा। 

यहां कर सकते हैं शिकायत
एसीबी महानिदेशक, भगवान लाल सोनी ने समस्त प्रदेशवासियों से अपील की है कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टोल-फ्री हैल्पलाईन नं. 1064 एवं हैल्पलाईन नं. 94135-02834 पर 24x7 सम्पर्क कर करप्शन के विरुद्ध अभियान में अपना महत्वपूर्ण  योगदान दें। एसीबी आपके वैध कार्य  को करवाने में पूरी मदद करेगी।

Must Read: गहलोत सरकार में भूमाफियाओं का आतंक, अबला नारी की नहीं हो रही सुनवाई...,भू—माफिया पीड़िता की जमीन पर कर रहे है शराब पार्टी

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :