अमेरिका पर हुए हमले में था शामिल: अमेरिका ने मार गिराया 25 मिलियन डॉलर का इनामी आतंकी अल-जवाहिरी

अफगानिस्तान की तालीबान हुकूमत के बीच अमेरिका ने दावा किया है कि उसने अलकायदा के प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी को मार गिराया गया है। ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद जवाहिरी ने ही अल-कायदा प्रमुख का पदभार संभाला था

अमेरिका ने मार गिराया 25 मिलियन डॉलर का इनामी आतंकी अल-जवाहिरी

नई दिल्ली  | अफगानिस्तान की तालीबान हुकूमत के बीच अमेरिका ने दावा किया है कि उसने अलकायदा के प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी को मार गिराया गया है। ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद जवाहिरी ने ही अल-कायदा प्रमुख का पदभार संभाला था। बताया जा रहा है कि, अमेरिका की केंद्रीय खुफिया एजेंसी सीआईए ने रविवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में ड्रोन हमला किया था। वहीं, इस ड्रोन हमले की तालिबान ने कड़ी निंदा की है।

25 मिलियन डॉलर का इनामी था जवाहिरी
अमेरिकी हमले में मारे गए अलकायदा के प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी 25 मिलियन डॉलर का इनाम था। अमेरिका की केंद्रीय खुफिया एजेंसी ने इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। अधिकारियों ने कहा कि जवाहिरी एक सुरक्षित घर की बालकनी में था, जब ड्रोन ने उस पर दो मिसाइलें दागीं। मौके पर परिवार के अन्य सदस्य मौजूद थे, लेकिन उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ और केवल जवाहिरी मारा गया। अल-जवाहिरी ने अमेरिका पर हुए 11 सितंबर 2001 के हमलों में मदद की थी। जिसमें लगभग 3,000 लोग मारे गए थे। आपको याद दिला दे कि, साल 2011 में अमेरिकी ने आतंकवादी समूह के संस्थापक खूंखार ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था। 

ये भी पढ़ें:- मेरी जान दुनिया छोड़कर चली गई: बॉलीवुड एक्ट्रेस दीय मिर्जा की भतीजी की कार एक्सीडेंट में मौत

जो बाइडन ने कहा- मोस्ट वांटेड आतंकवादी था जवाहिरी
जवाहिरी को मार गिराने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने घोषणा करते हुए कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका ने अल-कायदा प्रमुख अयमान अल-जवाहिरी को मार दिया है। जवाहिरी दुनिया के मोस्ट वांटेड आतंकवादियों में से एक था।

ये भी पढ़ें:- IND vs WI 2nd T20I: टीम इंडिया को हरा वेस्टइंडीज ने लिया पुरानी हार का बदला, आखिरी ओवर में जीत पर फिर पानी

तालिबान ने कहा- 2020 के समझौते का उल्लंघन
सऊदी अरब ने अमेरिका के हमले में मारे गए अल कायदा नेता अयमान अल-जवाहिरी की मौत पर खुशी जताई है और बाइडेन की इस घोषणा का स्वागत किया है। वहीं, तालिबान के मुख्य प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि अमेरिका ने काबुल में ड्रोन हमला कर अमेरिकी सेना की वापसी से जुड़े 2020 के समझौते का उल्लंघन किया है।

Must Read: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मलेरिया के टीके को दी मंजूरी, सबसे पहले अफ्रीकी देशों से शुरूआत

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :