सुजानगढ़ राम दरबार द्वार तोड़ने का मामला: राजस्थान की कांग्रेस सरकार के राज में राम दरबार की मूर्ति लगा प्रवेश द्वार तोड़ा, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है वीडिया

 जोधपुर सांसद व केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी इस वीडियो को ट्वीट करते हुए गहलोत सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। शेखावत ने लिखा कि प्रभु श्रीराम को काल्पनिक बताने वाली कांग्रेस अपना अस्तित्व खतरे में देख मंदिर जाने का दिखावा करने लगी लेकिन असलियत छिपाए नहीं छिपती।

राजस्थान की कांग्रेस सरकार के राज में राम दरबार की मूर्ति लगा प्रवेश द्वार तोड़ा, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है वीडिया


जयपुर। 
आजकल राजस्थान की राजनैतिक हलचल सोशल मीडिया पर देखने को मिल रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत पर महाराष्ट्र में घोटाले का मुकदमा दर्ज होना चर्चा का विषय बना हुआ है,
 वहीं दूसरी ओर राजस्थान की कांग्रेस सरकार के राज में राम दरबार की मूर्तियों को तोड़ने का एक वीडियो वायरल हो रहा है। 
सोशल मीडिया पर इस वीडियो को लेकर भाजपा नेता ट्वीट पर ट्वीट कर रहे है और कांग्रेस का असली चेहरा लोगों को बता रहे है।
 जोधपुर सांसद व केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी इस वीडियो को ट्वीट करते हुए गहलोत सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। शेखावत ने लिखा कि प्रभु श्रीराम को काल्पनिक बताने वाली कांग्रेस अपना अस्तित्व खतरे में देख मंदिर जाने का दिखावा करने लगी लेकिन असलियत छिपाए नहीं छिपती।

सुजानगढ़ में प्रवेश द्वार को गिराते हुए यह ध्यान नहीं रखा गया कि वहां राम दरबार बना हुआ है। इस तरीके को कौन सच्चा हिंदू स्वीकार करेगा? 
शेखावत का यह ट्वीट लगातार री ट्वीट किया जा रहा है। इससे पहले भाजपा के पूर्व मंत्री तथा विधायकों की आईडी से भी इस वीडियो को ट्वीट कर कांग्रेस सरकार को घेरा गया।


 15 मार्च की रात को तोड़ा राम दरबार
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडिया राजस्थान के सालासर रोड पर सुजानगढ़ का बताया जा रहा है। सुजानगढ़ के प्रवेश द्वार पर भगवान राम दरबार की मूर्ति लगी हुई थी। 
पीडब्ल्यूडी विभाग की ओर से सालासर-सुजानगढ़ पर फोरलेन बनाने के लिए रोड को चौड़ा किया जा रहा था।
 इसी को लेकर पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार ने गेट को मंगलवार 15 मार्च रात जेसीबी के जरिए मूर्तियों को नहीं हटाकर सीधे नीचे गिरा दिया। 
राम दरबार गिराने की सूचना पर बिगड़ा माहौल
सालासर रोड पर सुजानगढ़ के प्रवेश पर राम दरबार की मूर्ति लगे प्रवेश द्वार के तोड़ने की सूचना पर अगले दिन 16 मार्च को माहौल बिगड़ गया।
 भाजपा तथा हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने सुजानगढ़-सालासर हाईवे पर जाम लगा दिया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने मौके पर धरना देकर हनुमान चालीसा के पाठ शुरू कर दिए।


इस दौरान दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गई। 
सूचना पर पुलिस पहुंची तो लोगों ने उच्चाधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग की। इसके बाद पीडब्ल्यूडी एईएन बाबूलाल वर्मा व जेईएन नंदलाल मुवाल से आक्रोशित लोगों ने उन्हें सड़क पर बैठाकर ही वार्ता शुरू की। 
इस दौरान एईएन ने हाथ जोड़कर माफी मांगी। एईएन ने कहा कि सड़क बनने के बाद प्रवेश द्वार वापस बना दिया जाएगा, इसमें राम दरबार की मूर्तिया भी लगाई जाएगी। 

Must Read: CM Gehlot ने केबिनेट बैठक में ग्रामीण विकास राज्य सेवा की कनिष्ठ श्रृंखला में भर्ती नियमों को किया संशोधित, अब सीधी भर्ती और पदोन्नति का अनुपात रहेगा 50—50 फीसदी

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :