बेशुमार दौलत की रानी : अर्पिता मुखर्जी को मॉडलिंग से था इतना प्यार, ठुकरा दी सरकारी नौकरी

हमेशा सोशल मीडिया एक्टिव रहने वाली अर्पिता मुखर्जी भले ही अब ईडी के सामने फूट-फूट कर रो रही है, लेकिन वो एक सफल मॉडल और अभिनेत्री रह चुकी हैं। अर्पिता मुखर्जी बंगाली फिल्मों के अलावा उड़िया फिल्मों में भी अपने अभिनय की छाप छोड़ चुकी हैं। 

अर्पिता मुखर्जी को मॉडलिंग से था इतना प्यार, ठुकरा दी सरकारी नौकरी

नई दिल्ली । Bengal SSC Scam: पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में ईडी की गिरफ्त में आए मंत्री पार्थ चटर्जी की बेहद करीबी अर्पिता मुखर्जी को लेकर रोज नई-नई जानकारियां सामने आ रही है। हमेशा सोशल मीडिया एक्टिव रहने वाली अर्पिता मुखर्जी भले ही अब ईडी के सामने फूट-फूट कर रो रही है, लेकिन वो एक सफल मॉडल और अभिनेत्री रह चुकी हैं। अर्पिता मुखर्जी बंगाली फिल्मों के अलावा उड़िया फिल्मों में भी अपने अभिनय की छाप छोड़ चुकी हैं। 

पढ़ाई के साथ मॉडलिंग भी
खबरों के अनुसार, अर्पिता मुखर्जी बीए पास हैं। उनकी स्कूल की पढ़ाई कोलकाता के सारदा मिशन स्कूल से हुई थी। उन्होंने कोलकाता के स्कॉटिश चर्च कॉलेज से भी पढ़ाई की थी। इसी के साथ वे कॉलेज के दिनों से ही मॉडलिंग में उतर गई थी। उनकी अभिनय के साथ ही गायन और नृत्य में भी काफी रुचि थी।

ये भी पढ़ें:- Corona Uncontrollable: कोरोना फिर बेकाबू! इस राज्य में मास्क पहनना हुआ अनिवार्य, बिना मास्क के राज्य में प्रवेश पर रोक

मॉडलिंग से इतना प्यार, ठुकरा दी सरकारी नौकरी
अर्पिता शुरू से मॉडलिंग में दिलचस्पी रखती थी। इसके चलते उन्होंने पिता के निधन के बाद मिले सरकारी नौकरी के ऑफर को भी नकार दिया था। शुरुआत में लोकल फैशन ब्रांड्स के लिए मॉडलिंग करती-करती अर्पिता जूलरी और क्लोदिंग ब्रांड्स के लिए भी मॉडलिंग की दुनिया में उतर गई।

ये भी पढ़ें:- Bipasha Basu Pregnant: शादी के 6 साल बाद बिपाशा हुई प्रेग्नेंट! करण सिंह ग्रोवर जल्द बन सकते हैं पापा

मां रहती हैं पैतृक गांव में
10 जून 1986 को पश्चिम बंगाल के कोलकाता स्थित बेलघरिया में जन्मी अर्पिता मुखर्जी मिडिल क्लास फैमिली बिलोंग करती हैं। उनके पिता सेंट्रल गर्वंमेंट एंप्लॉई थे। उनके पिता का निधन हो चुका है और उनकी 67 वर्षीय मां मिनाती मुखर्जी बेलघरिया में अपने पैतृक गांव में रहती हैं।

Must Read: सरकार ने प्रशासनिक फेरबदल करते हुए 239 आरएएस के किए तबादले, सिरोही जिला परिषद सीईओ नारायण सिंह चारण तो दूदाराम को लगाया रेवदर उपखंड अधिकारी

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :