India @ ब्रिटेन को करारा जवाब: ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों को भारत में रहना होगा 10 दिन आइसोलेट, यूके के लोगों का होगा आरटीपीसीआर टेस्ट

ब्रिटेन में कोरोना प्रमाण पत्र को लेकर हुए विवाद के बाद अब भारत सरकार ने भी वहां की सरकार को करारा जवाब दिया है। भारत सरकार ने ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों के लिए नियमों में सख्ती करते हुए 10 दिन का आइसोलेट करने के आदेश जारी कर दिए। इतना ही नहीं, यूके से आने वाले लोगों को आरटीपीसीआर टेस्ट भी अनिवार्य कर दिया।

ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों को भारत में रहना होगा 10 दिन आइसोलेट, यूके के लोगों का होगा आरटीपीसीआर टेस्ट

नई दिल्ली, एजेंसी। 
ब्रिटेन में कोरोना प्रमाण पत्र को लेकर हुए विवाद के बाद अब भारत सरकार ने भी वहां की सरकार को करारा जवाब दिया है। भारत सरकार ने ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों के लिए नियमों में सख्ती करते हुए 10 दिन का आइसोलेट करने के आदेश जारी कर दिए। इतना ही नहीं, यूके से आने वाले लोगों को आरटीपीसीआर टेस्ट भी अनिवार्य कर दिया। सरकारी आदेशों के मुताबिक कोरोना की वैक्सीन डोज लगी होने के बावजूद यहां आने पर टेस्ट कराना होगा। वहीं ट्रैवलर्स को यात्रा शुरू करने से 72 घंटे पहले और आगमन के 8 दिन बाद का ही यह टेस्ट जरूरी होगा।

गौरतलब है कि ब्रिटेन सरकार ने पिछले दिनों कोवीशील्ड को मान्यता तो दे दी थी, लेकिन भारतीयों के लिए कुछ शर्तें जोड़ दी । ऐसे में भारत ने नाराजगी जताई थी। ब्रिटेन में भी भारतीयों को पहुंचने पर 10 दिन क्वारैंटाइन और टेस्ट कराने पड़ रहे है। इस पर भारतीय नागरिकों ने भी ब्रिटेन के इस निर्णय को नस्लीय बताया था। ब्रिटेन सरकार ने उस दौरान जवाब देते हुए भारत के वैक्सीन सर्टिफिकेट पर भरोसा नहीं जताया था। इस पर भारत सरकार ने 24 सितंबर को कहा था कि हम ब्रिटेन को उसी अंदाज में जवाब दे सकते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण के मुताबिक दोनों देशों की सरकारें आपस में बात कर रही हैं। उन्होंने भारतीय यात्रियों पर लगे प्रतिबंधों को भेदभावपूर्ण बताया था।

Must Read: राजस्थान फॉरेस्ट एंड बायो डायवर्सिटी डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत फ्रांस की फंडिंग एजेंसी एएफडी की टीम की सीएस से मुलाकात

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :