Rajasthan @ राजनीति में हलचल शुरू: राजस्थान के तीन होनहार मंत्रियों ने मंत्री पद छोड़कर संगठन में काम करने की जताई इच्छा: माकन, सीएमआर में मंत्रिमंडल की बैठक आज, 21 को पुनर्गठन की संभावना

राजस्थान की राजनीति में एक बार फिर से हलचल शुरू हो गई। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार के तीन मंत्रियों ने इस्तीफा देेने की पेशकश की। मंत्रियों का तर्क है कि कांग्रेस पार्टी में एक व्यक्ति, एक पद के फॉर्मुले को अपनाया जा रहा है। वहीं राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन शुक्रवार शाम को जयपुर पहुंचने के बाद तीनों मंत्रियों

राजस्थान के तीन होनहार मंत्रियों ने मंत्री पद छोड़कर संगठन में काम करने की जताई इच्छा: माकन, सीएमआर में मंत्रिमंडल की बैठक आज, 21 को पुनर्गठन की संभावना


जयपुर। 
राजस्थान की राजनीति में एक बार फिर से हलचल शुरू हो गई। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार के तीन मंत्रियों ने इस्तीफा देेने की पेशकश की।इनके इस्तीफे मंजूर कर लिए गए है। मंत्रियों का तर्क है कि कांग्रेस पार्टी में एक व्यक्ति, एक पद के फॉर्मूला को अपनाया जा रहा है। वहीं राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन शुक्रवार शाम को जयपुर पहुंचने के बाद तीनों मंत्रियों के इस्तीफे की जानकारी दी। सरकार के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी और स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भेजा है। कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने जयपुर पहुंचने के बाद कहा कि राजस्थान सरकार के तीनों होनहार मंत्रियों ने मंत्री पद छोड़कर संगठन में कार्य करने की इच्छा जताई थी। इसके बाद इन तीनों ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। आप को बता दें कि हाल ही में आयोजित राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री ने डोटासरा के मंत्री पद छोड़ने के संकेत दे दिए थे। वहीं दूसरी ओर अब नए मं​त्रिमंडल पर आज शाम को मुख्यमंत्री बैठक कर सकते है। राज्यपाल कलराज मिश्र का उत्तर प्रदेश दौरे से लौटने के बाद उन से मिलकर नए मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी। ऐसे कयास लगाए जा रहे है कि 21 नवंबर को मंत्रिमंडल का पुनर्गठन हो सकता है।


एक व्यक्ति एक पद फॉर्मूला अब याद आया
राजस्थान की राजनीति भी अजीब है। कांग्रेस पार्टी में एक व्यक्ति एक पद का फॉर्मूला बताया जाता है लेकिन ​गहलोत सरकार के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा प्रदेशाध्यक्ष पद भी काम कर रहे थे और शिक्षा मंत्री भी। हालांकि राजस्व मंत्री हरीश चौधरी और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा को क्रमश पंजाब और गुजरात का प्रभार हाल ही में दिया गया। लेकिन डोटासरा तो लंबे समय तक दो पदों पर बैठे थे। तब उन्हें यह फॉर्मूला याद क्यों नहीं आया। हरीश चौधरी ने तो पंजाब का प्रभारी बनने के साथ ही मंत्री पद छोड़ने की पेशकश कर दी थी। 
मोटर गैराज में जमा करवाई गाड़ियां
गहलोत सरकार के मंत्रियों के इस्तीफे के बाद आगे की प्र​क्रिया शुरू हो गई। शिक्षामंत्री डोटासरा और हरीश चौधरी ने आज सुबह मोटर गैराज में अपनी सरकारी गाड़ियां जमा करवा दी। वहीं सीएम अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल में अब 12 जगह खाली हो गई है। पहले सीएम सहित 21 मंत्री थे। लेकिन इन तीनों मंत्रियों के इस्तीफे के बाद यह संख्या 18 रह जाएगी। अभी ऐसी संभावना जताई जा रही है कि कुछ ओर मंत्रियों को हटाया जा सकता हैं। 
मंत्री की दौड़ में कई, पद मिलेगा एक को
राजनी​ति गलियारों में चर्चा है कि रामलाल जाट, महेन्द्रजीत सिंह मालवीय, हेमाराम चौधरी या बृजेन्द्र ओला में से एक को मंत्री पद मिल सकता है। वहीं जाहिदा कामां, मंजू मेघवाल,रमेश मीणा या मुरारी मीणा में से भी एक तथा विश्वेन्दर सिंह, राजेन्द्र पारीक-राजकुमार या महेश जोशी तीनों में से भी एक और शंकुतला रावत या जितेंद्र सिंह में से एक, राजेन्द्र गुढ़ा व खंडेला को मंत्री पद मिल सकता हैं। 

Must Read: Rajasthan के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने Corona के बूस्टर डोज के लिए PM मोदी को लिखा पत्र

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :