शराब तस्करी में सिरोही पुलिस का कनेक्शन: सिरोही पुलिस जिस कंटेनर को अवैध शराब तस्करी में किया जब्त, वो 10 दिनों तक सिरोही जिले में ही था, 30 मई को ही आबू रोड की ओर से सरूपगंज आते हुए उ​ड़वाडिया टोल को किया था क्रॉस, सवाल कहां और कब भरी शराब

राजस्थान में अवैध शराब तस्करी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। सिरोही जिले में पिछले दिनों आबकारी की अवैध शराब पर कार्रवाई के बाद जिला पुलिस सबके नजरों में आ गई। हालांकि सिरोही पुलिस ने साख बचाने के लिए उठाया कदम उसके गले का फांस बनता जा रहा है।

सिरोही पुलिस जिस कंटेनर को अवैध शराब तस्करी में किया जब्त, वो 10 दिनों तक सिरोही जिले में ही था, 30 मई को ही आबू रोड की ओर से सरूपगंज आते हुए उ​ड़वाडिया टोल को किया था क्रॉस, सवाल कहां और कब भरी शराब

सिरोही।
राजस्थान में अवैध शराब तस्करी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। सिरोही जिले में पिछले दिनों आबकारी की अवैध शराब पर कार्रवाई के बाद जिला पुलिस सबके नजरों में आ गई।  सिरोही पुलिस ने साख बचाने के लिए उठाया कदम उसके गले का फांस बनता जा रहा है। सिरोही पुलिस ने जिस कंटेनर में अवैध शराब की तस्करी में दिखाया, वो सिरोही से ही भरा गया था। इतना ही नहीं, पुलिस ने जिस कंटेनर से गुजरात में सप्लाई होना बताया, वह 30 मई को ही आबू रोड की ओर से सरूपगंज की ओर आया था। चौंकाने वाली बात तो यह है कि यह कंटेनर ​पिछले 10 दिनों में से सिरोही छोड़कर गया ही नहीं, ऐसे में हरियाणा की शराब तस्करी पर पुलिस की कहानी सवालों के घेरे में नजर आ रही है। या यूं कहां जाए कि पुलिस की मिली भगत से सिरोही में अवैध शराब तस्करी के गोदाम संचालित किए जा रहे है और यदा कदा पुलिस वाहवाही लूटने के लिए नाम मात्र की कार्रवाई को अंजाम दे देती है।

20 मई को सरूपगंज से आबू रोड की ओर गया था कंटेनर


सिरोही पुलिस की शराब तस्करों से मिलीभगत का एक और महत्वपूर्ण सबूत यह है कि शराब तस्करों के साथ सिरोही पुलिस की वकाई सांठगांठ थी। 30 मई की रात को जिस ट्रक कंटेनर को सरूपगंज पुलिस ने हरियाणा निर्मित शराब की अवैध तस्करी के जुर्म में जब्त कर 1705 पेटी शराब का बड़ा जखीरा पकड़ने की कार्रवाई की थी। दरअसल वो कन्टेनर 20 मई को सरूपगंज होते हुए आबूरोड़ की तरफ गया था, जो पुनः वापसी में 30 मई को दोपहर 12 बजे सरूपगंज पहुंचा था।

यानी ये ट्रक कन्टेनर पुलिस कार्रवाई से 10 दिनों तक कभी हरियाणा की तरफ गया ही नहीं। इस बात की पुष्टि उड़वाडिया टोल प्लाजा कर रहा हैं। दोपहर 12 बजे उडवाडिया टोल प्लाजा क्रॉस करने वाला ये कन्टेनर हरियाणा की तरफ जाने वाले किसी भी सड़क मार्ग पर किसी भी दिन, कोई दूसरा टोल क्रॉस ही नहीं करता। ऐसे में 30 मई को इस कंटेनर में शराब कहां से आई, कब भरी गई, यह सवाल अभी जवाब का इंतजार कर रहा है। 

साख बचाने के लिए पुलिस ने भी की बड़ी कार्रवाई
सिरोही एसपी हिम्मत अभिलांष टांक की पोस्टिंग के बाद  से अब तक सिरोही पुलिस की शराब तस्करों पर यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। बताया ऐसा जा रहा है कि सिरोही पुलिस ने आबकारी की कार्रवाई के बाद अपनी साख बचाने के लिए 1700 पेट्टी पकड़ कर इतिहास रच दिया। आप को बताया ​दें कि अमूमन अवैध शराब की इतनी बड़ी खेप एक साथ या एक ही ट्रक में कभी तस्करी नहीं की जाती। अमूमन किसी सामान की आड़ में शराब तस्कर 500 से 800 तक पेट्टी अवैध शराब की तस्करी करते है। आबकारी की कार्रवाई में भी 15 गाड़ियों में करीबन 1900 पेट्टी शराब जब्त की गई। लेकिन सिरोही पुलिस ने कंटेनर में 1700 पेट्टी पकड़ कर चौंकाने वाला काम कर दिया ,लेकिन अवैध शराब का गोदाम और शराब माफियाओं पर कार्रवाई नहीं कर पाए।

Must Read: शैक्षिक महासंघ के प्रतिनिधि मंडल ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से की मुलाकात, समक्ष रखी ये मांगें

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :