दरिंदगी की इंतहा: निर्भया जैसी दरिंगदी राजस्थान में भी, तीन लोगों ने दलित महिला के साथ सामूहिक बलात्कार किया, थाना प्रभारी की लापरवाही भी

नागौर जिले के तीन युवकों ने दरिंदगी की सीमाएं पार करते हुए एक दलित महिला के साथ न केवल सामूहिक दुष्कर्म किया, बल्कि उसके गुप्तांगों में बोतल घुसाकर पाशविकता का परिचय दिया।

निर्भया जैसी दरिंगदी राजस्थान में भी, तीन लोगों ने दलित महिला के साथ सामूहिक बलात्कार किया, थाना प्रभारी की लापरवाही भी

जयपुर | राजस्थान में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर एक ऐसा मामले सामने आया है, जिसने निर्भया के साथ हुई रेप की वारदात की याद दिला दी है। नागौर जिले के तीन युवकों ने दरिंदगी की सीमाएं पार करते हुए एक दलित महिला के साथ न केवल सामूहिक दुष्कर्म किया, बल्कि उसके गुप्तांगों में बोतल घुसाकर पाशविकता का परिचय दिया। वारदात तीन दिन पुरानी है, लेकिन बदमाशों और उनके समर्थक आकाओं ने परिवार को जान से मारने की धमकी दे डाली। यहां तक कि सूचना मिलने के बावजूद थाना प्रभारी अपने ट्रांसफर के चक्कर में मामले को लटकाते ही रहे।

थाना प्रभारी रूपाराम चौधरी ने बताया कि वारदात की जानकारी डिप्टी एसपी मकराना सुरेश कुमार सामरिया को दी। रिपोर्ट के अनुसार, महिला पड़ोसी पांचूराम जाट के खेत पर छाछ लेने गई थी। महिला को अकेली पाकर पांचूराम जाट व उसके साथी कानाराम जाट व श्रवण गुर्जर ने उसे डरा-धमकाकर दुष्कर्म किया। फिलहाल, तीनों आरोपी गांव से फरार हैं। उनकी तलाश की जा रही है।
यह वारदात नागौर जिले के परबतसर थाना इलाके में गांगवा गांव की है। महिला 19 जनवरी को सुबह पड़ोस के खेत पर बने मकान में छाछ लेने गई थी। यहीं खेत पर काम कर रहे तीन युवक महिला के पास आए और उसे धमकाने लगे। महिला ने उनसे बचने की कोशिश की, लेकिन वह नाकाम रही। तीनों बदमाशों ने महिला के साथ दुष्कर्म किया। दरिंदे यहीं नहीं रुके। उन्होंने गैंगरेप के दौरान एक बोतल को महिला के प्राइवेट पार्ट तक में डाल दिया।

पुलिस की लापरवाही सामने आई
इस मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है। महिला के परिवार के एक सदस्य ने तीन दिन पहले हिम्मत दिखाकर तत्कालीन थाना प्रभारी को इस घटना की जानकारी दी थी। लेकिन थाना प्रभारी ने महज इसलिए केस दर्ज नहीं किया क्योंकि उनके ट्रांसफर ऑर्डर आ चुके थे। उनके ट्रांसफर के बाद आए नए थाना प्रभारी ने परिवार की शिकायत के बाद मामला दर्ज नहीं।

Must Read: नदी को बचाने, नदी में उतरे नन्हें “पांव”

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :