Sirohi शिक्षक की छात्रा पर गंदी नियत: Reodar Subdivision में परीक्षा देने पहुंची छात्रा को शिक्षक ने लिखकर दिए मोबाइल नंबर, परीक्षा के बाद परिजनों ने किया हंगामा, निलंबित, 2 सहयोगी शिक्षक एपीओ

​शिक्षा का मंदिर विद्यालय आज आए दिन शर्मसार हो रहा है। कहीं किसी विद्यालय में मासूम बच्चियों को हवस का शिकार बनाया जा रहा है तो कहीं मनचलों द्वारा बच्चियों से गलत हरकत की जा रही है। अपराधियों में डर और आमजन में विश्वास वाक्य अब उलटा हो गया। 

Reodar Subdivision  में परीक्षा देने पहुंची छात्रा को शिक्षक ने लिखकर दिए मोबाइल नंबर, परीक्षा के बाद परिजनों ने किया हंगामा, निलंबित, 2 सहयोगी शिक्षक एपीओ

सिरोही। 
​शिक्षा का मंदिर विद्यालय आज आए दिन शर्मसार हो रहा है। कहीं किसी विद्यालय में मासूम बच्चियों को हवस का शिकार बनाया जा रहा है तो कहीं मनचलों द्वारा बच्चियों से गलत हरकत की जा रही है। 
अपराधियों में डर और आमजन में विश्वास वाक्य अब उलटा हो गया। 
पुलिस के प्रति अपराधियों में डर नहीं रहा, बल्कि लचर कानून व्यवस्था के चलते अपराधियों के हौंसले लगातार बुलंद हो रहे है। 
इसी के चलते विद्यालयों तक में बच्चियों से छेड़छाड़ और दुष्कर्म जैसी घटनाएं बढ़ रही है। 
ताजा मामला सिरोही जिले के रेवदर उपखंड का बताया जा रहा है, जहां परीक्षा देने पहुंची छात्राओं को एक वीक्षक अपने मोबाइल नंबर लिख कर दे रहा था।
परीक्षा में फेल कराने की धमकी देकर फोन पर बात करने का दबाव बना रहा था। इतना ही नहीं, वीक्षक की इस गंदी हरकत में उसके दो अन्य शिक्षकों ने भी साथ दिया। 
हालांकि परीक्षा के बाद मामला बढ़ा तो शिक्षा विभाग को आरोपी शिक्षक को निलंबित करना पड़ा, वहीं आरोपी की मदद करने वाले अन्य दो शिक्षकों को एपीओ करना पड़ा। 
यह है मामला 
सिरोही जिले के रायपुर पीईओ क्षेत्र की वडवज स्कूल में कार्यरत शिक्षक विनोद कुमार को अर्ध वार्षिक परीक्षाओं के चलते एक स्कूल में बतौर वीक्षक लगाया गया है। 
वीक्षक विनोद कुमार ने परीक्षा देने आई छात्राओं को पेपर पर अपने मोबाइल नंबर लिखकर देना शुरू कर दिया। विनोद कुमार ने छात्राओं को परीक्षा में पेपर हल करने में मदद कराने का झांसा भी दिया। 
वीक्षक कुमार की बातें सुनकर एक बार तो बच्चियां डर गई ,लेकिन एक छात्रा ने परीक्षा के बार परिजनों को इस घटना क्रम की जानकारी दी। 
परीक्षा केंद्र के बाहर परिजनों का हंगामा, शिक्षा विभाग ने किया निलंबित 
वीक्षक विनोद कुमार की बातें सुनने के बाद छात्राओं ने परिजनों को सूचित किया। परीक्षा केंद्र के बाद परिजनों ने मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। 
इधर, मामला बढ़ता देख आरोपी विनोद कुमार मौके से फरार हो गया। वहीं दूसरी ओर स्कूल प्रधानाचार्य ने उच्चाधिकारियों को इस मामले से अवगत कराया। इस पर रेवदर ब्लॉक शिक्षा अधिकारी मौके पर पहुंच गए। 
आरोपी निलंबित और सहयोगी एपीओ 
शिक्षा विभाग के मुताबिक ग्रामीणों ने आरोपी शिक्षक को निलंबित करने की मांग की। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने ग्रामीणों की मांग पर आरोपी विनोद कुमार को निलंबित कर दिया। 
जबकि इस घटना क्रम में विनोद कुमार का साथ दे रहे अन्य दो शिक्षक ​बजरंग और मुकेश कुमार को एपीओ किया गया। इनमें विनोद कुमार और मुकेश कुमार वडवज स्कूल के शिक्षक है जबकि बजरंग जालमपुरा स्कूल में कार्यरत है। 
मुकेश और बजरंग पर आरोप है कि इन्होंने मामले को दबाने के लिए मोबाइल नंबरों को मिटा दिया। 

Must Read: बढ़ते कोरोना के बीच सीएम की अहम बैठक में किए यह फैसले

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :